अंतरराष्‍ट्रीय वाणिज्यिक यात्री उड़ानों पर प्रतिबंध 31 अगस्‍त तक बढ़ा, DGCA ने जारी की अधिसूचना

DGCA extends ban on international flights till August 31- India TV Paisa
Photo:PTI

DGCA extends ban on international flights till August 31

नई दिल्‍ली। देश के विमानन सुरक्षा नियामक नागर विमानन महानिदेशालय (DGCA) ने शुक्रवार को अनुसूचित अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक यात्री उड़ानों के निलंबन को 31 अगस्‍त, 2021 तक बढ़ा दिया है। एक आधिकारिक परिपत्र के मुताबिक यह प्रतिबंध अंतरराष्ट्रीय मालवहन संचालन और नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) द्वारा मंजूरी प्राप्त विशेष उड़ानों पर लागू नहीं होगा।

डीजीसीए ने परिपत्र में कहा कि दिनांक 26-6-2020 के परिपत्र में आंशिक संशोधन के तहत सक्षम प्राधिकारी ने भारत से/ भारत के लिए अनुसूचित अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक यात्री सेवाओं के निलंबन के संबंध में जारी परिपत्र की वैधता को 31 अगस्‍त 2021, 23:59 बजे (आईएसटी) तक बढ़ा दिया है। हालांकि, चुनिंदा मार्गों पर सक्षम प्राधिकारी द्वारा अंतरराष्ट्रीय अनुसूचित उड़ानों की अनुमति दी जा सकती है।

 कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर भारत ने 23 मार्च, 2020 से अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक यात्री उड़ानों को रद्द कर रखा है।

जून में 31. 13 लाख घरेलू हवाई यात्री, मई की तुलना में 47% अधिक

जून में लगभग 31. 13 लाख घरेलू यात्रियों ने हवाई यात्रा की, जो मई में यात्रा करने वाले 21. 15 लाख की तुलना में 47 प्रतिशत अधिक है। नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) के अनुसार, अप्रैल में 57. 25 लाख लोगों ने हवाई मार्ग से देश के भीतर यात्रा की थी। मई में घरेलू हवाई यातायात में गिरावट कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के कारण थी जिसने देश और उसके विमानन क्षेत्र को बुरी तरह प्रभावित किया था।

डीजीसीए द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के अनुसार, इंडिगो ने जून में 17. 02 लाख यात्रियों को ढोया, जो घरेलू बाजार का 54. 7 प्रतिशत हिस्सा था, स्पाइसजेट ने कुल मिला कर 2. 81 लाख यात्रियों के साथ उड़ाने भरीं, जो कुल घरेलू हवाई यात्री का नौ प्रतिशत हिस्सा था। आंकड़ों से पता चलता है कि जून में एयर इंडिया, गो फर्स्ट (पहले गोएयर के नाम से जाना जाता था), विस्तारा और एयरएशिया इंडिया ने क्रमश: 5.14 लाख, 2. 58 लाख, 2. 25 लाख और 1. 07 लाख यात्रियों को ढोया। महामारी के मद्देनजर भारत और अन्य देशों में लगाए गए यात्रा प्रतिबंधों के कारण विमानन क्षेत्र पर काफी प्रभाव पड़ा है।

भारत ने कोरोनावायरस महामारी के कारण दो महीने के अंतराल के बाद पिछले साल 25 मई को घरेलू यात्री उड़ानें फिर से शुरू कीं। भारतीय एयरलाइंस को अपनी पूर्व-महामारी घरेलू उड़ानों में से अधिकतम 65 प्रतिशत संचालित करने की अनुमति है।

यह भी पढ़ें: Microsoft कर रही है OYO में निवेश के लिए बातचीत, 9 अरब डॉलर आंका गया है बाजार मूल्‍याकंन

यह भी पढ़ें: बलदेगी यूपी के औद्योगिक माहौल की सूरत, इन जिलों में स्‍थापित होंगे इंडस्ट्रियल पार्क

यह भी पढ़ें: महंगे पेट्रोल-डीजल से राहत का विकल्‍प तलाश रही मोदी सरकार, जल्‍द मिलेगी आपको ये खुशखबरी

यह भी पढ़ें:    GST दरों को लेकर जल्‍द मिलेगी खुशखबरी, सरकार कर रही है ये तैयारी