अदाणी समूह ने खरीदी भारत की सबसे बड़ी मरीन कंपनी ओशन स्पार्कल, पोर्ट के बाद अब समुद्री कारोबार में बजेगा डंका

Gautam Adani- India TV Paisa
Photo:FILE

Gautam Adani

Highlights

  • OSL देश की सबसे बड़ी थर्ड पार्टी मरीन सर्विस प्रोवाइडर कंपनी है
  • कंपनी ने OSL की 100% हिस्सेदारी के अधिग्रहण के लिए एक समझौता किया है
  • कंपनी टोवेज, पाइलटेज और ड्रेजिंग जैसी गतिविधियों में शामिल हैं

पोर्ट इंफ्रास्ट्रक्चर के बाद अब मरीन कारोबार में भी अदाणी समूह ने अपना दबदबा जमा लिया है। अदाणी अदानी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक ज़ोन लिमिटेड (“APSEZ”) ने अपनी सहायक कंपनी, द अदानी हार्बर सर्विसेज लिमिटेड (“TAHSL”) के माध्यम से, भारत की सबसे बड़ी मरीन कंपनी ओशन स्पार्कल लिमिटेड (OSL) खरीद ली है। कंपनी ने OSL की 100% हिस्सेदारी के अधिग्रहण के लिए एक समझौता किया है। OSL देश की सबसे बड़ी थर्ड पार्टी मरीन सर्विस प्रोवाइडर कंपनी है। कंपनी टोवेज, पाइलटेज और ड्रेजिंग जैसी गतिविधियों में शामिल हैं।

OSL की स्थापना 1995 में समुद्री टेक्नोक्रेट्स के एक समूह द्वारा की गई थी, जिसके अध्यक्ष और एमडी के रूप में पी जयराज कुमार थे, जो ओएसएल बोर्ड के अध्यक्ष के रूप में बने रहेंगे। OSL के पास 94 जहाजों और 13 थर्ड पार्टी के स्वामित्व वाले जहाज हैं। कंपनी में 300 करोड़ की नकदी के साथ OSL का कारोबारी मूल्य 1,700 करोड़ रुपये है। 

एपीएसईजेड के सीईओ और पूर्णकालिक निदेशक करण अदानी ने कहा, “ओएसएल और अदानी हार्बर सर्विसेज के तालमेल को देखते हुए, कुल कारोबार अगले पांच वर्षों में बेहतर मार्जिन के साथ दोगुना होने की संभावना है, जिससे एपीएसईजेड के शेयरधारकों के लिए महत्वपूर्ण मूल्य मिलेगा।” 

उन्होंने कहा “यह अधिग्रहण न केवल APSEZ को भारत के समुद्री सेवा बाजार का एक महत्वपूर्ण हिस्सा प्रदान करता है, बल्कि हमें अन्य देशों में उपस्थिति बनाने के लिए एक मंच भी प्रदान करता है, जिससे APSEZ को 2030 तक विश्व स्तर पर सबसे बड़ा पोर्ट ऑपरेटर बनने और भारत में सबसे बड़ी एकीकृत परिवहन उपयोगिता बनने की दिशा में सुविधा प्रदान करता है।”