अब वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला कार्यबल का 41 फीसदी हिस्सा हैं महिलाएं: सर्वेक्षण

अब वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला कार्यबल का 41 फीसदी हिस्सा हैं महिलाएं: सर्वेक्षण- India TV Paisa
Photo:PIXABAY

अब वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला कार्यबल का 41 फीसदी हिस्सा हैं महिलाएं: सर्वेक्षण

नई दिल्ली: वर्ष 2021 में वैश्विक स्तर पर आपूर्ति श्रृंखला कार्यबल (सप्लाई चेन वर्कफोर्स) में महिलाओं की हिस्सेदारी 41 प्रतिशत आंकी गई है, जो पिछले साल 39 प्रतिशत थी। एक नए सर्वेक्षण में यह आंकड़ा सामने आया है। हालांकि, सर्वेक्षण के 54 प्रतिशत उत्तरदाताओं ने कहा कि मध्य करियर की महिलाओं को बनाए रखना एक बढ़ती चुनौती है। गार्टनर द्वारा द वूमेन इन सप्लाई चेन सर्वे 2021 के अनुसार, कैरियर के अवसरों की कमी शीर्ष कारण है कि मध्य-कैरियर से संबंध रखने वाली महिलाओं ने आपूर्ति श्रृंखला संगठन या प्रदाता को छोड़ दिया।

दूसरा सबसे चयनित विकल्प विकास के अवसर थे। कार्यकारी स्तर को छोड़कर प्रत्येक नेतृत्व स्तर में उनके प्रतिनिधित्व में वृद्धि देखी गई है। कार्यकारी स्तर में उनके प्रतिनिधित्व में थोड़ी गिरावट आई है। 2021 में आपूर्ति श्रृंखला में कार्यकारी स्तर की भूमिकाओं में महिलाओं की हिस्सेदारी 15 प्रतिशत दर्ज की गई है, जो 2020 में 17 प्रतिशत से कम है।

गार्टनर सप्लाई चेन प्रैक्टिस की उपाध्यक्ष विश्लेषक डाना स्टिफलर ने एक बयान में कहा, अन्य उद्योगों के विपरीत, कोविड-19 महामारी के दौरान आपूर्ति श्रृंखला की मिशन-महत्वपूर्णता का मतलब है कि कई क्षेत्रों ने अपने कर्मचारियों की संख्या को कम नहीं किया, बल्कि काम पर रखना जारी रखा। यहां तक कि उन्हें प्रतिभा की कमी का भी सामना करना पड़ा, विशेष रूप से उत्पाद आपूर्ति श्रृंखला में यह देखने को मिला। उन्होंने कहा, इसके परिणामस्वरूप कई महिलाओं ने न केवल आपूर्ति श्रृंखला संगठनों में अपना आधार स्थापित किया, बल्कि संगठनों में अपना प्रतिनिधित्व बढ़ाया। हालांकि, निष्कर्षों ने 2016 में सर्वेक्षण के पहले संस्करण के बाद से आपूर्ति श्रृंखला कार्यबल में महिलाओं का उच्चतम प्रतिशत दिखाया है। 

महामारी ने आपूर्ति श्रृंखला लैंगिक समानता के प्रयासों को बाधित नहीं किया है। कुल 84 प्रतिशत प्रतिक्रिया देने वाले संगठनों ने कहा कि कोविड-19 का महिलाओं को बनाए रखने और आगे बढ़ाने की उनकी क्षमता पर कोई स्पष्ट प्रभाव नहीं पड़ा है। स्टिफलर ने कहा, आपूर्ति श्रृंखला के लीडर, जो अपने लैंगिक समानता प्रयासों के बारे में गंभीर हैं, उन्हें नेतृत्व विकास कार्यक्रम बनाना चाहिए और लचीली कार्य नीतियों का पता लगाना चाहिए, जो मध्य-करियर महिलाओं की जरूरतों को पूरा करती हैं।