अमित शाह के पास सहकारी क्षेत्र का विशाल अनुभव, अहमदाबाद डिस्ट्रिक्ट कोऑपरेटिव बैंक के चेयरमैन रह चुके हैं

अमित शाह के पास सहकारी क्षेत्र का विशाल अनुभव, अहमदाबाद डिस्ट्रिक्ट कोऑपरेटिव बैंक के चेयरमैन रह चुक- India TV Paisa
Photo:PTI

अमित शाह के पास सहकारी क्षेत्र का विशाल अनुभव, अहमदाबाद डिस्ट्रिक्ट कोऑपरेटिव बैंक के चेयरमैन रह चुके हैं

नई दिल्ली: केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को सहकारिता मंत्रालय का भी प्रभार सौंपा गया है। यानी अब अमित शाह गृह मंत्रालय के अलावा मिनिस्टर ऑफ को-ऑपरेशन का प्रभार भी संभालेंगे। अमित शाह के पास सहकारी क्षेत्र का विशाल अनुभव है। वह खुद अहमदाबाद डिस्ट्रिक्ट कोऑपरेटिव बैंक के चेयरमैन रह चुके हैं। 2000 में जब वो उस ADC BANK के चेयरमैन बने तब बैंक डूब रहा था उन्होंने एक साल में बैंक को प्रॉफिट मेकिंग बना दिया आज ADC BANK गुजरात का सबसे सुदृढ़ बैंक है।

उन्ही के प्रयासों से डिफॉल्टेड माधुपुरा कोऑपरेटिव बैंक के लिए रिवाइवल पॅकेज डिक्लेयर हुआ जिससे 2003 ने गुजरात के 160 कोऑपरेटिव बैंक डूबने से बच गए उसी साल उन्होंने डूबता विसनगर कॉपरेटिव बैंक का इंस्युरेन्स करवा कर उत्तर गुजरात के डिपॉज़िटर्स का पैसा डूबने से बचाया था। उन्ही के प्रयासों से आज गुजरात के सहकारी क्षेत्र में 2005 के बाद से भाजपा का प्रभुत्व बनना शुरू हुआ था। 

नरेंद्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले कैबिनेट विस्तार में बुधवार कुल 43 मंत्रियों ने शपथ ली। इसके साथ ही, सभी के मंत्रालय भी बांट दिए गए हैं। इसमें कई पुराने मंत्रियों के मंत्रालय बदलकर नए मंत्रियों को दिए गए हैं। कई बड़े मंत्रालयों के मंत्री बदले गए हैं। पीयूष गोयल से रेल मंत्रालय वापस ले लिया गया है। उन्हें कपड़ा मंत्रालय और खाद्य एवं उपभोक्ता मंत्रालय दिया गया है।

पहले पीयूष गोयल के पास रेल मंत्रालय, वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्रालय, उपभोक्‍ता कार्य, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय था। वहीं, धर्मेंद्र प्रधान को शिक्षा मंत्रालय और कौशल विकास मंत्रालय मिला है। पहले वह पेट्रोलियम एवं प्रकृति गैस मंत्रालय और इस्‍पात मंत्रालय संभालते थे। अनुराग ठाकुर को खेल मंत्रालय और सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय मिला है। पहले वह वित्‍त राज्य मंत्री और कॉरपोरेट कार्य राज्य मंत्री थे।