आदित्‍य बिड़ला फैशन एंड रिटेल लिमिटेड, राइट्स इश्‍यू के जरिए जुटायेगा 995 करोड़ रु.

आदित्‍य बिड़ला फैशन एंड रिटेल लिमिटेड (एबीएफआरएल), जो विभिन्‍न सेगमेंट्स व श्रेणियों में प्रमुख फैशन ब्रांड्स व रिटेल फॉर्मट्स वाला और राजस्‍व की दृष्टि से भारत की सबसे बड़ी प्‍योर-प्‍ले फैशन एवं लाइफस्‍टाइल कंपनियों में से एक है (स्रोत: वजीर एडवायजर्स रिपोर्ट), अपने राइट्स इश्‍यू के जरिए 995 करोड़ रु. जुटाने जा रही है। यह राइट्स इश्‍यू 22 जुलाई, 2020 को बंद होगा। एबीएफआरएल, 110 रु. प्रति शेयर की दर से 9,04,65,693 आंशिक-चुकता इक्विटी शेयर्स उपलब्‍ध करा रहा है।

कंपनी का वितरण नेटवर्क पूरे देश भर में फैला है, जिसमें 31 मार्च, 2020 के आंकड़ों के अनुसार लगभग 8.04 मिलियन स्‍क्‍वायर फीट में फैले 3,031 स्‍टोर्स, 25,000 से अधिक मल्‍टी-ब्रांड आउटलेट्स व डिपार्टमेंटल स्‍टोर्स में 6,514 एसआईएस हैं। ये स्‍टोर्स देश के 750 से अधिक शहरों में हैं, जिनमें टायर 1 से लेकर टायर 4 तक के शहर शामिल हैं।

एबीएफआरएल के प्रवर्तक और प्रवर्तक समूह अपने राइट्स एनटाइटलमेंट तक पूरा सब्‍सक्राइब करेंगे और वो प्रवर्तक व प्रवर्तक समूह के भीतर अस्‍वीकृति को छोड़कर इस तरह के अधिकार को छोड़ने की इच्‍छा नहीं रखते हैं; वो इश्‍यू के किसी भी अतिरिक्‍त इक्विटी शेयर्स को भी सब्‍सक्राइब कर सकेंगे, ताकि इश्‍यू का कम से कम 90 प्रतिशत सब्‍सक्रिप्‍शन सुनिश्चित हो सके (इश्‍यू का सब्‍सक्रिप्‍शन 90 प्रतिशत से कम होने की स्थिति में), और इस तरह के सब्‍सक्रिप्‍शन पर लागू कानून प्रभावी होगा। इश्‍यू प्राइस के भुगतान की शर्त यह है कि 50 प्रतिशत राशि का भुगतान आवेदन के समय करना होगा, 25 प्रतिशत का भुगतान जनवरी 2021 में और बाकी 25 प्रतिशत का भुगतान जुलाई 2021 में करना होगा।

राइट्स एनटाइटलमेंट अनुपात, रिकॉर्ड तिथि पर पात्र इक्विटी शेयरधारकों द्वारा धारित प्रत्‍येक 77 (सतहत्‍तर) मौजूदा पूर्णत: चुकता शेयर्स के लिए 9 (नौ) आंशिक चुकता राइट्स इक्विटी शेयर्स है।

एबीएफआरएल के ब्रांड्स जैसे कि लुइस फिलिप, वॉन ह्युसेन, एलेन सोली और पीटर इंग्‍लैंड, उच्‍च गुणवत्‍ता वाले उत्‍पादों, आधुनिक फैशन व संतोषजनक ग्राहक अनुभव के पर्याय हैं। पैंटालून्‍स, वैल्‍यू फैशन सेगमेंट का एक प्रमुख ब्रांड है जिसके देश भर में 342 स्‍टोर्स हैं जिनका क्षेत्रफल 4.3 मिलियन वर्गफीट से अधिक है। एबीएफआरएल ने देश के टायर 2, 3 और 4 शहरों में नये-नये बाजारों को चिह्नित किया है और इसका इच्‍छा इन बाजारों में पैठ बनाने की है, क्‍योंकि बदलते फैशन के साथ-साथ नये नये उपभोक्‍ता बन रहे हैं।

एबीएफआरएल, इश्‍यू से होने वाली शुद्ध आय का उपयोग कंपनी के कुछ कर्जों को चुकाने और सामान्‍य कॉर्पोरेट कार्यों के लिए करेगा। आईसीआईसीआई सिक्‍योरिटीज लिमिटेड, एसबीआई कैपिटल मार्केट्स लिमिटेड, एक्सिस कैपिटल लिमिटेड, बीएनपी परिबास और सीएलएसए इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, इस इश्‍यू के लीड मैनेजर्स हैं।