इमरान खान का भारत को लेकर फिर बड़ा बयान, व्यापार को लेकर कही यह बड़ी बात

इमरान खान का भारत को लेकर फिर बड़ा बयान, व्यापार को लेकर कही यह बड़ी बात- India TV Paisa
Photo:AP

इमरान खान का भारत को लेकर फिर बड़ा बयान, व्यापार को लेकर कही यह बड़ी बात

नई दिल्ली: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत को लेकर फिर बड़ा बयान दिया है। इमरान खान ने कहा है कि पाकिस्तान मौजूदा परिस्थियों में भारत के साथ किसी भी व्यापार को आगे नहीं बढ़ा सकता है। इमरान खान ने कहा कि पड़ोसी देश से कपास और चीनी आयात करने पर अपने मंत्रिमंडल के प्रमुख सदस्यों के साथ विचार-विमर्श के बाद पाकिस्तान मौजूदा परिस्थितियों में भारत के साथ किसी भी व्यापार को आगे नहीं बढ़ा सकता है।एक मीडिया रिपोर्ट में इसकी जानकारी दी गई है।

डॉन अखबार ने सूत्रों के हवाले से बताया कि इमरान खान ने मिनिस्ट्री ऑफ कॉमर्स और उनकी इकोनोमिक टीम से बातचीत के बाद निर्देश दिया कि वे आवश्यक वस्तुओं के आयात के वैकल्पिक सस्ते स्रोतों का पता लगाएं और संबंधित क्षेत्रों, मूल्यवर्धित, परिधान और चीनी के लिए तुरंत कदम उठाएं।

इससे पहले पाकिस्तान के वित्त मंत्री हम्माद अजहर ने बुधवार को कहा था कि पाकिस्तान अब भारत से चीनी और कपास खरीदेगा। इसके साथ पाकिस्तान ने पड़ोसी देश से आयात को लेकर जो पाबंदी लगायी थी, वह हटा ली गयी है। पाकिस्तान ने 2019 में कश्मीर को लेकर तनाव बढ़ने के मद्देनजर पड़ोसी देश से अपने आयात पर पाबंदी लगा दी थी। अजहर की अध्यक्षता में आर्थिक समन्वय समिति (ईसीसी) की बैठक में इस आशय का निर्णय किया गया। प्रधानमंत्री इमरान खान ने सोमवार को उन्हें वित्त मंत्री नियुक्त किया। 

वित्त मंत्री ने कहा था कि बैठक में एजेंडे में शामिल विषयों पर चर्चा की गयी। इसमें भारत से कपास और चीन आयात का मुद्दा शामिल था। इस बारे में विस्तृत चर्चा के बाद आयात की अनुमति दी गयी। इन वस्तुओं के आयात शुरू होने से दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय व्यापार संबंध कुछ बेहतर होंगे जो पांच अगस्त, 2019 के बाद से निलंबित था। भारत के जम्मू कश्मीर को दिये गये विशेष राज्य का दर्जा वापस लिये जाने के निर्णय के बाद दोनों देशों के बीच व्यापार बंद हो गया था। 

उन्होंने कहा था कि निजी क्षेत्र को भारत को 5 लाख टन सफेद चीनी के आयात की अनुमति दी गयी है। वित्त मंत्री ने कहा कि सरकार ने अन्य देशों से चीनी आयात की अनुमति दी थी। हालांकि अन्य देशों में इसके दाम ऊंचे थे। उन्होंने कहा, ‘‘ हमारे पड़ोसी देश भारत में चीनी काफी सस्ता है। इसीलिए हमने भारत के साथ चीनी का व्यापार शुरू करने का निर्णय किया।’’ भारत से कपास आयात के बारे में अजहर ने कहा कि इसकी काफी मांग थी क्योंकि पाकिस्तान का कपड़ा निर्यात बढ़ा था लेकिन पिछले साल कपास की फसल अच्छी नहीं थी। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान, भारत से इस साल जून से कपास का आयात करेगा। वित्त मंत्री ने कहा, ‘‘हमने देश और लोगों के हित में यह निर्णय किया है।’’ भारत दुनिया में कपास का सबसे बड़ा उत्पादक है जबकि चीनी के मामले में दूसरा सबसे बड़ा विनिर्माता है। प्रधानमंत्री के वाणिज्य और निवेश मामलों के सलाहकार दाऊद ने ईसीसी के निर्णय का स्वागत किया है।