उफ ये महंगाई: अब मकान बनाना ही नहीं मरम्मत भी होगी महंगी, सीमेंट की कीमतों में आया भूचाल

Cement - India TV Paisa
Photo:FILE

Cement 

नयी दिल्ली। अगर आप घर की मरम्मत कराने की सोच रहे हैं तो अपनी पॉकेट ढीली करने के लिए तैयार हो जाइए। तेल से लेकर बिस्कुट की महंगाई से आजिज आम इंसान के लिए अपनी तीसरी सबसे अहम जरूरत यानि मकान बनाना बहुत महंगा पड़ने वाला है। अप्रैल में सीमेंट कंपनियां तगड़ी बढ़ोत्तरी करने वाली हैं। ताजा रिपोर्ट के अनुसार घरेलू बाजार में सीमेंट का दाम इस महीने 25 से 50 रुपये प्रति बैग (बोरी) बढ़ सकता है। 

क्रिसिल की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि विनिर्माताओं ने रूस-यूक्रेन युद्ध की वजह से लागत में वृद्धि का बोझ ग्राहकों पर डालना शुरू कर दिया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि पिछले 12 माह के दौरान सीमेंट का दाम बढ़कर 390 रुपये बोरी हो गया है। विनिर्माताओं ने अब लागत वृद्धि का बोझ ग्राहकों पर डालना शुरू कर दिया है। इससे सीमेंट 25-50 रुपये प्रति बोरी और महंगा हो सकता है। 

कच्चे तेल के दाम मार्च में औसतन 115 डॉलर प्रति बैरल रहे। इसके अलावा विभिन्न कारणों से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कोयले के दाम भी बढ़े हैं। बिजली और ईंधन की लागत बढ़ने से सड़क के जरिये ढुलाई भाड़े में भी वृद्धि हुई है। क्रिसिल रिसर्च के निदेशक एच गांधी ने कहा कि वित्त वर्ष 2021-22 की पहली छमाही में सालाना आधार पर सीमेंट मांग 20 प्रतिशत बढ़ी। लेकिन दूसरी छमाही में बेमौसम बारिश, श्रम के उपलब्ध नहीं होने जैसे कारणों से नरमी आई।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘वित्त वर्ष 2022-23 में सीमेंट मात्रा में 5 से 7 प्रतिशत की वृद्धि की संभावना है। इसका कारण बुनियादी ढांचे के साथ छोटे शहरों में सस्ते मकानों पर जोर है। हालांकि निर्माण लागत बढ़ने से मांग में तेजी पर कुछ अंकुश लगेगा।’’