ओला ने 1,441 ई-स्कूटर वापस मंगाए, एस1 प्रो में आग की घटना के बाद उठाया यह कदम

ola- India TV Paisa
Photo:FILE

ola

Highlights

  • आग लगने की घटना के मद्देनजर कंपनी ने यह कदम उठाया
  • ओकिनावा ऑटोटेक ने 3,000 से अधिक इकाइयों को बाजार से वापस लिया
  • प्योर ईवी ने भी बाजार से 2,000 इकाइयां वापस ली

नई दिल्ली। ओला इलेक्ट्रिक ने इलेक्ट्रिक दोपहिया की 1,441 इकाइयों को बाजार से वापस लेने का फैसला किया है। हाल में इलेक्ट्रिक दोपहिया में आग लगने की घटना के मद्देनजर कंपनी ने यह कदम उठाया है। कंपनी ने बयान में कहा कि वह पुणे में 26 मार्च को इलेक्ट्रिक दोपहिया में आग लगने की घटना की जांच कर रही है। शुरुआती जांच से पता चलता है कि यह इस तरह का एकमात्र मामला है। हालांकि, कंपनी ने कहा कि सुरक्षा उपाय के तहत वह इस खेप के 1,441 इलेक्ट्रिक वाहनों को बाजार से वापस ले रही है और वह इन स्कूटरों की जांच करेगी। 

इंजीनियर पूरी तरह जांच करेंगे

ओला इलेक्ट्रिक ने कहा, इन स्कूटरों की हमारे इंजीनियर पूरी तरह जांच करेंगे। वे बैटरी प्रणाली, थर्मल प्रणाली से लेकर सुरक्षा प्रणाली सभी की जांच करेंगे। कंपनी ने दावा किया कि उसकी बैटरी प्रणाली पहले से अनुपालन वाली है और इसका एआईएस 156 के लिए परीक्षण हो चुका है। यह भारत के लिए प्रस्तावित नया मानक है। इसके अलावा यह बैटरी यूरोपीय मानक ईसीई 136 को भी पूरा करती है। हाल के दिनों में देश में कई स्थानों पर इलेक्ट्रिक दोपहिया में आग लगने की घटनाएं सामने आई हैं। इसके चलते इलेक्ट्रिक दोपहिया कंपनियां अपने वाहनों को बाजार से वापस मंगा रही हैं। ओकिनावा ऑटोटेक ने 3,000 से अधिक इकाइयों को बाजार से वापस लिया है। प्योर ईवी ने भी बाजार से 2,000 इकाइयां वापस ली हैं।

खराब ई-स्कूटर वापस मंगवाए जाएंगे 

भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों की गुणवत्ता पर छिड़ी बहस के बीच चुप्पी तोड़ते हुए ओला के संस्थापक और सीईओ भावेश अग्रवाल ने शनिवार को कहा कि कंपनी दोषपूर्ण ई-स्कूटर के लिए ईवी निर्माताओं को दंडित करने के सरकार के कदम की सराहना करती है। अग्रवाल ने यह भी कहा कि उनके किसी भी बैच (ई-स्कूटर की सप्लाई) में कोई समस्या है, तो वह उन ई-स्कूटरों को तुरंत वापस मंगवा लेंगे। अग्रवाल ने कहा कि कंपनी यह सुनिश्चित कर रही है कि प्रत्येक स्कूटर सभी मोर्चो पर कड़े परीक्षणों से गुजरे, विशेष रूप से बैटरी जो सभी के लिए महत्वपूर्ण हिस्सा है। उन्होंने स्पष्ट किया कि अगर कोई स्कूटर दोषपूर्ण पाया जाता है, तो कंपनी उन बैचों या खेप को वापस बुलाने में संकोच नहीं करेगी। अग्रवाल ने कहा, हम हाल ही में ईवी से जुड़ी आग की घटनाओं के बारे में चिंतित हैं और सरकार की चिंताओं का पूरा समर्थन करते हैं। अगर हमें अपने स्कूटर में कोई गलती मिलती है, तो उस बैच को वापस बुलाना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता होगी।