छोटी बचत योजनाओं के लिए डाक विभाग ने उठाया बड़ा कदम, ग्रामीण भारत होगा मजबूत

Small Saving Schemes in Post Office, Post Office Schemes  - India TV Paisa
Photo:INDIA TV

Small Saving Schemes in Post Office

नई दिल्ली। डाक विभाग ने पीपीएफ समेत सभी लघु बचत योजनाओं की पहुंच ग्रामीण इलाकों तक पहुंचाने के लिए बड़ा कदम उठाया है। डाक विभाग की छोटी बचत योजनाएं ग्रामीण स्तर तक पहुंचने से ग्रामीण भारत को सशक्‍त बनाया जा सकेगा। डाक विभाग की छोटी बचत योजनाओं में निवेश कर आप भी बड़ा मुनाफा कमा सकते हैं। इसमें निवेश करना भी काफी आसान है।

1.31 लाख से ज्यादा डाकघर में मिल रही हैं ये सेवाएं

दरअसल, डाक विभाग ने सभी छोटी बचत योजनाओं को विस्तार देकर शाखा डाकघर स्तर तक कर दिया है। ग्रामीण क्षेत्रों में 1,31,113 शाखा डाकघर काम कर रहे हैं। पत्र, स्पीड पोस्ट, पार्सल, इलेक्ट्रॉनिक मनी ऑर्डर, ग्रामीण डाक जीवन बीमा की सुविधाओं के अलावा इन शाखा डाकघरों के द्वारा अब डाकघर बचत खाता, आवर्ती जमा, सावधि जमा और सुकन्या समृद्धि खाता योजनाएं भी प्रदान की जा रही हैं। 

{img-71499}

इन छोटी बचत योजनाओं का लें लाभ

नए आदेश में डाकघर शाखाओं को सार्वजनिक भविष्‍य निधि खाता, मासिक आय योजना (MIS), राष्‍ट्रीय बचत प्रमाण पत्र (NSC), किसान विकास पत्र (KVP), वरिष्‍ठ नागरिक बचत योजनाओं (SCSS), और सुकन्या समृद्धि योजना योजना (SSYC) की सुविधा उपलब्‍ध कराने की अनुमति दी गई है। लोग अब अपने गांव के डाकघरों में ही इन बचत योजनाओं में धन जमा करा सकेंगे। ग्रामीण लोगों को अब वही डाकघर बचत बैंक वाली सुविधाएं प्राप्त हो सकेंगी, जिनका फायदा शहर में रहने वाले लोग उठा रहे हैं। वे अपनी बचत को अपने गांव के डाकघर के माध्यम से ही लोकप्रिय योजनाओं में जमा कर सकेंगे। बता दें कि सरकार की ओर से हर तीन महीने पर छोटी बचत योजनाओं के ब्याज दरों की समीक्षा की जाती है। 1 जुलाई से 30 सितंबर 2020 तक अलग-अलग छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरें पिछली तिमाही के समान हैं।