जानिए कौन हैं गौतम अदाणी? इन्फ्रास्ट्रक्चर, खनन और पोर्ट से लेकर रक्षा क्षेत्र में जमाई भारत की धाक

Gautam Adani with Boris Johnson - India TV Paisa
Photo:PTI

Gautam Adani with Boris Johnson 

Highlights

  • अदाणी समूह कोयला व्यापार, कोयला खनन, तेल एवं गैस खोज, बंदरगाहों के क्षेत्र में कार्यरत
  • अदाणी की जिंदगी की बात करें तो यह किसी फिल्मी पटकथा से कम नहीं है
  • गौतम ने 1988 में अदाणी एक्सपोर्ट लिमिटेड की नींव शुरू की

भारत दौरे पर आए किसी देश के प्रधानमंत्री या राष्ट्राध्यक्ष अमूमन दिल्ली में अपने समकक्ष से मुलाकात करते हैं। लेकिन 21 अप्रैल को भारत दौरे पर आए ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने गुजरात से अपना दौरा शुरू किया जहां वे किसी बड़े राजनेता से नहीं बल्कि भारत ही नहीं बल्कि एशिया के सबसे अमीर शख्स गौतम अदाणी से मिले। दुनिया के सबसे विकसित देश के प्रधानमंत्री का अदाणी से मुलाकात करना उनकी खास शख्सियत और कारोबारी जगत में उनके वर्चस्व को दर्शाता है। आइए जानते हैं कि कौन हैं गौतम अदाणी और कहां कहां फैला है उनका कारोबार? 

संक्षिप्त परिचय 

  • नाम :– गौतम अदाणी ।
  • जन्म :– 24 जून 1962, अहमदाबाद, गुजरात ।
  • पिता : शांतिलाल अदाणी ।
  • माता : शांताबेन अदाणी ।
  • पत्नी/पति :– प्रीति अदाणी 

गौतम अदाणी की जिंदगी की बात करें तो यह किसी फिल्मी पटकथा से कम नहीं है। एक चॉल से निकलकर भारत के सबसे अमीर शख्स बनने की उनकी कहानी काफी दिलचस्प है। गौतम अदाणी का जन्म गुजरात के अहमदाबाद में 24 जून 1962 को हुआ था। अदाणी के छह भाई-बहन थे। अदाणी का परिवार बेहद संपन्न नहीं था इसलिए वो उस दौरान अहमदाबाद के पोल इलाके की शेठ चॉल में रहते थे। 

Gautam Adani 

Image Source : FILE

Gautam Adani 

20 की उम्र में पहला कारोबार 

उन्होंने गुजरात यूनिवर्सिटी में बीकॉम में एडमिशन तो ले लिया, लेकिन पढ़ाई आगे बढ़ नहीं पाई। अपनी पढ़ाई बीच में अधूरी छोड़कर अडानी एक दिन कुछ पैसे लेकर मुंबई आ गए, उस वक्त वो महज 18 साल के थे। मुंबई जाकर वह  हिंद्रा ब्रदर्स में महज तीन सौ रुपये सैलरी पर काम करने लगे। लेकिन अडानी इतने में ही नहीं मानने वाले थे जल्दी ही उन्होंने 20 साल की उम्र में ही हीरे का ब्रोकरेज आउटफिट खोल लिया। पहले ही साल कंपनी ने लाखों का टर्नओवर किया, फिर भाई मनसुखलाल के कहने पर अडानी मुंबई से अहमदाबाद आकर भाई की प्लास्टिक फैक्ट्री में काम करने लगे। फिर पीवीसी इंपोर्ट का सफल बिजनेस शुरू हुआ।

1988 मे अदाणी एक्सपोर्ट की शुरुआत 

गौतम ने 1988 में अदाणी एक्सपोर्ट लिमिटेड की नींव शुरू की। यह कंपनी पॉवर व एग्रीकल्चर कमोडिटीज के सेक्टर में काम करने लगी। धीरे-धीरे एक्सपोर्ट का कारोबार गति पकड़ता रहा, उन्होंने पोर्ट सहित कई कारोबार में हाथ डाले तो हर जगह सफलता नसीब हुई। आज अदाणी समूह कोयला व्यापार, कोयला खनन, तेल एवं गैस खोज, बंदरगाहों, मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक, बिजली उत्पादन एवं पारेषण और गैस वितरण में फैले कारोबार को सम्भालने वाला विश्व स्तर का एकीकृत बुनियादी ढ़ाँचा है।

दुनिया के सबसे अमीर शख्स की लिस्ट में शामिल 

फोर्ब्स मैग्जीन के मुताबिक, अदानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अदानी 10 अरब डॉलर की संपत्ति के मालिक हैं और  अरबपतियों में शुमार हैं। आज अदानी ग्रुप देश की सबसे बड़ी एक्सपोर्ट कंपनियों में से एक है।  बीते दिनों उन्होंने देश की सबसे बड़ी मरीन कंपनी को भी खरीद लिया है। उन्होंने खुद का बीचक्रॉफ्ट जेट 2005 में और हॉकर जेट 2008 में खरीदा था। उनको यह सब महज साढ़े तीन दशक में हासिल हुआ है। अडानी ने हाल ही में उत्तर प्रदेश में 35 हजार करोड़ के निवेश का एलान किया है।