डीजल की कीमत में फ‍िर हुई वृद्धि, ट्रांसपोर्टर्स और कार कंपनियों की बढ़ी चिंता

Diesel costlier as oil firms push pump prices, petrol remains steady - India TV Paisa
Photo:REPUBLICWORLD

Diesel costlier as oil firms push pump prices, petrol remains steady

नई दिल्‍ली। ऑयल मार्केटिंग कंपनियों ने शनिवार को डीजल का दाम 15 पैसे प्रति लीटर बढ़ा दिया। पिछले कुछ दिनों से ईंधन के दाम स्थिर थे और अब शनिवार को एक बार फ‍िर डीजल में मूल्‍यवृद्धि हुई है, जबकि पेट्रोल के दाम स्थिर बने हुए हैं।

राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में डीजल का दाम 81.79 रुपए प्रति लीटर और पेट्रोल का दाम 80.43 रुपए प्रति लीटर है। पेट्रोल की कीमत 29 जून के बाद से स्थिर बनी हुई है। ऑयल कंपनियों ने इससे पहले सोमवार को डीजल की कीमत में 12 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की थी लेकिन उसके बाद अगले चार दिनों यानी शुक्रवार तक दोनों ईंधन के दाम स्थिर बने रहे।

धीमी मांग के बावजूद डीजल की कीमत में अप्रत्‍याशित वृद्धि से ट्रांसपोर्ट सेक्‍टर के सामने बड़ी मुश्किल खड़ी हो गई है क्‍योंकि ईंधन की बढ़ती कीमत की वजह से उनका मार्जिन घट गया है। राजधानी में डीजल की कीमतों ने ऑटोमोबाइल कंपनियों की भी चिंता बढ़ा दी है। कंपनियों को देश के सबसे बड़े कार बाजार में डीजल कारों की बिक्री के भविष्‍य को लेकर चिंता होने लगी है।

डीजल की कीमत में लगातार हो रही वृद्धि के बाद राष्‍ट्रीय राजधानी में पेट्रोल और डीजल के बीच का अंतर बढ़ता जा रहा है। अप्रत्‍याशित घटना के रूप में पिछले महीने दिल्‍ली में पहली बार डीजल की कीमत पेट्रोल से अधिक हो गई थी।

मुंबई, चेन्‍नई और कोलकाता में पेट्रोल बिना किसी बदलाव के क्रमश: 87.19 रुपए, 83.63 रुपए और 82.10 रुपए प्रति लीटर बिक रहा है। जबकि यहां डीजल की कीमत में मामूली वृद्धि हुई है।

ऑयल कंपनियों ने लॉकडाउन के दौरान 82 दिनों तक कीमतों को स्थिर रखने के बाद पेट्रोल-डीजल की कीमतों में दैनिक संशोधन 7 जून से दोबारा शुरू किया है। उसके बाद से पेट्रोल अबतक 9.5 रुपए प्रति लीटर और डीजल 12 रुपए प्रति लीटर महंगा हो चुका है।