नई लिस्ट कंपनियों ने किया निवेशकों को मालामाल, महामारी के बीच 1साल में 9 गुना तक बढ़ी रकम

नई लिस्ट कंपनियों ने...- India TV Paisa

नई लिस्ट कंपनियों ने में 9 गुना तक बढ़ी निवेशकों की रकम 

नई दिल्ली। आमतौर पर माना जाता है कि महामारी जैसी अनिश्चितता के दौरान लोग स्टॉक मार्केट से दूरी बना लेते हैं। आज भी निवेशकों का एक बड़ा वर्ग इस सिद्धांत पर कायम है। हालांकि बीते एक साल में भारतीय निवेशक अपने निवेश को लेकर और ज्यादा साहसिक होने लगे हैं, और नई कंपनियों में मिले ऊंचे रिटर्न  की वजह से वो बाजार में निवेश को लेकर और सकारात्मक हो रहे हैं। बीते एक साल में आए आईपीओ में मिले रिटर्न और इश्यू के कई गुना सब्सक्रिप्शन से ये बात साबित भी होने लगी है। बीते एक साल में लिस्ट हुई कंपनियों के स्टॉक में अब तक 800 प्रतिशत से ज्यादा की बढ़त देखने को मिली है। वहीं हाल ही मे आए एक इश्यू को 181 गुना सबस्क्रिप्शन मिला है।

महामारी के बीच मोटी कमाई करा रहीं नई कंपनियां

  • 17 सितंबर 2020 को लिस्ट हुई Happiest Minds का इश्यू प्राइस 166 रुपये था। फिलहाल स्टॉक 1475 रुपये के स्तर के करीब है। यानि एक साल से कम समय के अंदर स्टॉक में निवेशकों को पैसा 8.8 गुना हो गया है।
  • वहीं इसी के बाद आए Route Mobile का स्टॉक एक साल में अपने इश्यू प्राइस 350 के मुकाबले 2100 रुपये के करीब पहुंच गय़ा है। यानि रकम करीब 6 गुना बढ़ गई है।
  • Angel Broking अक्टूबर 2020 से 306 रुपये के इश्यू प्राइस से बढ़कर 1300 रुपये के पार पहुंच गया, यानि निवेश में 4 गुना से ज्यादा बढ़त देखने को मिली।
  • 2021 में ही लिस्ट हुए MTAR Tech में अब तक निवेशकों की रकम 3 गुना बढ़ चुकी है।
  • इसी हफ्ते लिस्ट हुए GR Infraprojects में रिटर्न दोगुना और clean science में निवेशकों का पैसा 90 प्रतिशत से ज्यादा बढ़ चुका है।
  • एक साल के अंदर लिस्ट हुई ऐसी कंपनियों की संख्या दहाई के अंक में पहुंच गयी हैं जहां निवेशकों का पैसा दोगुना हो गया है।

कहां हुआ निवेशकों को नुकसान

ऐसे नहीं है कि आईपीओ बाजार किसी लहर के हवाले है जहां सभी कमाई कर रहे हैं। आंकड़ों के देखें  तो  आम लोगों की नजर में कई सस्ते दिखने वाले इश्यू में लोगों की रकम डूबी है। राहत की बात ये है कि ऐसे स्टॉक्स की संख्या सिर्फ 10 प्रतिशत है, और इसमें भी एक्सपर्ट्स समय पर रिकवरी की उम्मीद लगा रहे हैं। इसमें मार्च के अंत में लिस्ट हुई कल्याण ज्वैलर्स जिसका इश्यू प्राइस 87 रुपये था, फिलहाल स्टॉक 74 रुपये की करीब है। साथ ही   जनवरी में लिस्ट हुई आईआरएफसी जो अपने इश्यू प्राइस 26 के मुकाबले फिलहाल 23.5 के करीब है।

IPO पर बढ़ा आम लोगों को भरोसा

ऊंचे रिटर्न को देखते हुए प्राइमरी मार्केट पर आम लोगों को भरोसा बढ़ता जा रहा है। इसका संकेत इश्यू को मिल रहे रिस्पॉन्स से पता चलता है।

  • हाल में आए तत्व चिंतन में रिटेल हिस्सा 35 गुना भरा है, वहीं पूरा इश्यू 180 गुना सब्सक्राइब हुआ
  • जोमेटो का रिटेल हिस्सा 7 गुना से ज्यादा भरा था, वहीं पूरा इश्यू 38 गुना सब्सक्राइब हुआ
  • जी आर इंफ्रा प्रोजेक्ट का रिटेल हिस्सा 12 गुना से ज्यादा भरा था,
  • 13 इश्यू में रिटेल कोटा 10 गुना से ज्यादा  भरा, वहीं इस साल आए 5 इश्यू में रीटेल कोटा 25 गुना से ज्यादा भरा है।
  • एक साल में सबसे ज्यादा कमाई कराने वाली happiest Mind में रीटेल कोटा 70 गुना भरा था।

क्यो आई आईपीओ मार्केट में तेजी


वीएम फाइनेंशियल के रिसर्च हेड विवेक मित्तल के मुताबिक आईपीओ बाजार में आई तेजी के लिये कई वजह जिम्मेदार है। फिलहाल सिस्टम में लिक्विडिटी बढ़ी हुई है जिसका असर सब्सक्रिप्शन में देखने को मिल रहा है। वहीं सेकेंडरी मार्केट के शानदार प्रदर्शन से भी लोगों की उम्मीदें बढ़ गयी हैं। महमारी के झटके के बाद से बाजार 100 प्रतिशत बढ़ चुका है। कई लिस्ट हुई कंपनियों का रिटर्न ऊंचा रहने से सेंटीमेंट्स बेहतर हुए हैं। इसके साथ ही बाजार की बेहतर चाल को देखते हुए कई मजबूत कंपनियां  प्राइमरी मार्केट में उतरी हैं और ये लिस्ट लगातार बढ़ रही है। जिससे निवेश के विकल्प बढ़े है। वहीं कोरोना की दूसरी लहर के अर्थव्यवस्था पर असर पहले की आशंकाओं के मुकाबले कम रहने से भी रिटेल निवेशक ज्यादा भरोसे के साथ पैसा बाहर निकाल रहे हैं।