बड़ी राहत: अब कोरोना वैक्सीनेशन का स्लॉट मिलना होगा आसान, CoWIN पोर्टल पर आया ये खास फीचर

अब कोरोना वैक्सीनेशन...- India TV Paisa
Photo:AP

अब कोरोना वैक्सीनेशन का स्लॉट मिलना होगा आसान, CoWIN पोर्टल पर आया ये खास फीचर

कोरोना वायरस से बचाव के लिए भारत इस समय दुनिया का सबसे बड़ा कोविड टीकाकरण अभियान चला रहा है। सरकार 18 साल से अधिक उम्र के लोगों को वैक्सिनेशन की अनुमति दे चुकी है। इसके लिए सभी लोगों को CoWIN पोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होता है। CoWIN पोर्टल पर ही आपको स्लॉट लेना होता है और स्लॉट मिलने पर ही आपको निर्धारित तारीख और समय पर वैक्सीन लगवाने के लिए पहुंचना होता है। 

अब सरकार ने वैक्सीन बुकिंग करवाने के लिए CoWIN पोर्टल पर नयी खूबियां जोड़ दी हैं। इसके साथ ही अब यह प्रक्रिया और भी ज्यादा आसान हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार अब CoWIN पोर्टल देश में हिंदी के साथ ही पंजाबी, तेलुगू, मराठी, मलयालम, गुजराती, असमिया, बंगाली, कन्नड़, उड़िया जैसी क्षेत्रीय भाषाओं में भी उपलब्ध होगा।

पढें–  LPG ग्राहकों को मिल सकते हैं 50 लाख रुपये, जानें कैसे उठा सकते हैं लाभ

पढें–  खुशखबरी! हर साल खाते में आएंगे 1 लाख रुपये, मालामाल कर देगी ये स्कीम

भाषा को लेकर थी मुश्किल

जैसा कि हमने बताया कि पूरे देश में कोरोना वैक्सीनेशन के लिए CoWIN पोर्टल ही एक मात्र जरिया है। लेकिन इस पर जानकारी इंग्लिश में ही दी गई थी। जिसके चलते लोगों को इसे समझने में मुश्किलें भी आ रही थीं। बहुत से लोगों को शिकायत थी कि वे स्लॉट बुक नहीं करवा पा रहे थे। ऐसे में इसे हिंदी समेत कई क्षेत्रीय भाषाओं में लॉन्च किया गया है। CoWIN पोर्टल अगले हफ्ते से हिंदी और 14 अलग क्षेत्रीय भाषाओं में भी उपलब्ध हो जाएगा।

पढें–  हिंदी समझती है ये वॉशिंग मशीन! आपकी आवाज पर खुद धो देगी कपड़े

पढें–  किसान सम्मान निधि मिलनी हो जाएगी बंद! सरकार ने लिस्ट से इन लोगों को किया बाहर

अब सीरम भी बनाएगा Sputnik V

कोविड वैक्सीन Covishield का निर्माण कर रही कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) आने वाले दिनों में रूस की कोरोना वैक्सीन Sputnik V का भी निर्माण करेगी। Sputnik V के निर्माण की इजाजत के लिए सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने भारत के औषधि महानियंत्रक (DCGI) से इजाजत मांगी थी। जिसे मंजूर कर लिसा गया है। पुणे बेस्ट इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने test analysis और  examination के लिए भी मंजूरी मांगी है। बता दें कि फिलहाल भारत में रूस की कोविड वैक्सीन स्पूतनिक वी का निर्माण डॉ रेड्डीज लेबोरेटरीज द्वारा किया जा रहा है। सूत्रों ने बताया कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) ने बुधवार को ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) को एक आवेदन दिया, जिसमें भारत में COVID-19 वैक्सीन स्पुतनिक वी के निर्माण की अनुमति मांगी गई है।