भारत में पहुंच बढ़ाने के लिए Renault की ग्रामीण बाजार पर नजर, कई नए मॉडल करेगी लॉन्च

Renault India- India TV Paisa
Photo:RENAULT TRIBER

Renault India

नई दिल्ली। फ्रांस की वाहन कंपनी Renault भारतीय बाजार में अपनी स्थिति मजबूत करने के लिए नए मॉडल उतारने तथा विशेषरूप से ग्रामीण क्षेत्रों में बिक्री बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित कर रही है। कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी का कहना है कि रेनॉ के लिए भारत दुनिया के शीर्ष दस बाजारों में से है। कंपनी ने हाल में प्रवेश स्तर की क्विड तथा नए मॉडल ट्राइबर के लिए ऑटोमेटेड मैनुअल ट्रांसमिशन (एएमटी) ट्रिम पेश किया है। इसके अलावा इन वाहनों के मैनुअल ट्रांसमिशन वाले संस्करण भी हैं। कंपनी अब अपने उत्पाद पोर्टफोलियो को और मजबूत करने की तैयारी में है।

भारत में रेनॉ इंडिया ऑपरेशंस के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) एवं प्रबंध निदेशक वेंकटराम मामिलापल्ले ने पीटीआई-भाषा से साक्षात्कार में कहा, ‘‘हम जल्द पूरी तरह नए टर्बो इंजन (पेट्रोल) वाली डस्टर पेश करेंगे। यह अपने खंड में सबसे शक्तिशाली एसयूवी होगी।’’ उन्होंने कहा कि इसके अलावा कंपनी भारतीय बाजार के लिए पूरी तरह नए उत्पाद लाने की तैयारी कर रही है। वेंकटराम ने कहा भारत रेनॉ के लिए महत्वपूर्ण बाजारों में से है। पिछले कुछ साल से कुल बिक्री के लिहाज से यह कंपनी के लिए शीर्ष 10 वैश्विक बाजारों में से है। उन्होंने कहा, ‘‘हमारे पोर्टफोलियो में क्विड की अगुवाई में कुछ बेहद लोकप्रिय वैश्विक ब्रांड हैं। वैश्विक स्तर पर क्विड समूह के लिए सबसे प्रमुख कारों में से है।’’ कंपनी ने हाल में ट्राइबर पेश की है। इसके अलावा क्विड के लिए अब भी उत्साहवर्धक प्रतिक्रिया मिल रही है।

जुलाई में रेनो की बिक्री 75.5 प्रतिशत बढ़कर 6,422 इकाई पर पहुंच गई, जो इससे पिछले साल के समान महीने में 3,660 इकाई थी। उन्होंने कहा कि क्विड और ट्राइबर के एएमटी संस्करण को अच्छी प्रतिक्रिया मिलने से भी कंपनी की बिक्री बढ़ी है। ग्रामीण बाजार में वृद्धि की मध्यम से दीर्घावधि की रणनीति की जानकारी देते हुए वेंकटराम ने कहा कि पिछले साल कंपनी ने 300 ग्रामीण कस्बों को लक्ष्य कर एक गतिविधि शुरू की थी। उन्होंने कहा कि इसके अलावा हमने ग्रामीण बाजार में पैठ बढ़ाने के लिए एक विशेष परियोजना ‘विस्तार’ भी शुरू की है। हमारी डीलरशिप ने ग्रामीण बाजारों में पहुंच बढ़ाने के लिए विशेषज्ञता वाले बिक्री सलाहकार नियुक्त किए हैं। अप्रैल-जून की तिमाही में कंपनी की कुल बिक्री में ग्रामीण बाजार की हिस्सेदारी बढ़कर 25 प्रतिशत हो गई है, जो जनवरी-मार्च में 19 प्रतिशत थी।