रिजर्व बैंक ने तीन सहकारी बैंकों पर 23 लाख रुपए का जुर्माना लगाया

3 सहकारी बैंकों पर लगा...- India TV Paisa
Photo:PTI

3 सहकारी बैंकों पर लगा जुर्माना

नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक ने विभिन्न नियमों का उल्लंघन करने के लिए सोमवार को मुंबई के मोगावीरा को-ओपरेटिव बैंक लिमिटेड सहित तीन सहकारी बैंको पर 23 लाख रुपए का जुर्माना लगाया। मोगावीरा को-ओपरेटिव बैंक लिमिटेड पर 12 लाख रुपए का, इंदापुर अर्बन को-ओपरेटिव बैंक पर 10 लाख रुपए का और बारामती के दि बारामती सहकारी बैंक लिमिटेड पर एक लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया। रिजर्व बैंक ने मोगावीरा को- ओपरेटिव बैंक को लेकर कहा कि 31 मार्च, 2019 को बैंक की वित्तीय स्थिति के आधार पर उसकी निरीक्षण रिपोर्ट में खुलासा किया गया कि बैंक ने बिना दावे वाले जमा धन का जमाकर्ता शिक्षा एवं जागरुकता (डीईए) कोष में पूरी तरह से हस्तांतरण नहीं किया था और साथ ही निष्क्रिय खातों की वार्षिक समीक्षा भी नहीं की। निरीक्षण में यह भी पाया गया कि बैंक में खातों के जोखिम संबंधी वर्गीकरण की आवधिक समीक्षा की कोई व्यवस्था नहीं थी। रिजर्व बैंक ने इंदापुर कोओपरेटिव बैंक को लेकर कहा कि 31 मार्च, 2019 को बैंक की वित्तीय स्थिति के आधार पर उसकी निरीक्षण रिपोर्ट में खुलासा किया गया कि उसने असुरक्षित अग्रिमों पर एकीकृत सीमा का पालन नहीं किया और उसके पास बैंक में खातों के जोखिम संबंधी वर्गीकरण की आवधिक समीक्षा की कोई व्यवस्था नहीं थी। साथ ही बैंक में ग्राहकों के जोखिम संबंधी वर्गीकरण के लिहाज से लेन-देन के असंगत होने की स्थिति में अलर्ट तैयार करने के लिए मजबूत व्यवस्था नहीं थी। 

आरबीआई आवास कीमत सूचकांक में बढ़त दर्ज 

अखिल भारतीय आवास कीमत सूचकांक (एचपीआई) वित्त वर्ष 2020-21 की चौथी तिमाही में सालाना आधार 2.7 प्रतिशत बढ़ा है। रिजर्व बैंक के 2020-21 की जनवरी-मार्च तिमाही आंकड़े से यह पता चला। भारतीय रिज़र्व बैंक ने 10 बड़े शहरों में आवास पंजीकरण प्राधिकरणों से प्राप्त आंकड़े के आधार पर तिमाही आवास कीमत सूचकांक जारी किया। जिसमे अहमदाबाद, बेंगलुरु, चेन्नई, दिल्ली, जयपुर, कानपुर, कोच्चि, कोलकाता, लखनऊ और मुंबई जैसे शहर शामिल हैं। आरबीआई ने कहा, ‘‘प्रमुख शहरों में एचपीआई वृद्धि ने बड़े पैमाने पर भिन्नता दर्ज की गई। सालाना आधार पर अखिल भारतीय एचपीआई 2020-21 की चौथी तिमाही में 2.7 प्रतिशत बढ़ा। एक साल पहले इसी तिमाही में इसमें 3.9 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी। शहरों के अनुसार देखा जाए तो जहां बेंगलुरू में एचपीआई में सालाना आधार पर 15.7 प्रतिशत की वृद्धि हुई वहीं जयपुर में 3.6 प्रतिशत की गिरावट आयी।” केंद्रीय बैंक के अनुसार तिमाही के आधार पर अखिल भारतीय एचपीआई वर्ष 2021 की मार्च तिमाही में 0.2 प्रतिशत की वृद्धि हुई। दिल्ली, बेंगलुरु, कोलकाता और जयपुर में एचपीआई में गिरावट दर्ज की गई जबकि शेष छह शहरों में इसमें वृद्धि देखी गई।