लेखक बनने का है सपना तो सरकार करेगी मदद, 50 हजार रुपये महीने के साथ मिलेंगे बड़े अवसर

युवा लेखकों के लिये...- India TV Paisa
Photo:PTI

युवा लेखकों के लिये खास योजना

नई दिल्ली। अगर आप लेखक बनने का सपना रखते हैं या आप किसी ऐसे को जानते हैं जिसमें एक लेखक बनने के सभी गुण हैं तो मोदी सरकार की इस योजना का फायदा उठा सकते हैं। युवा लेखकों को बढ़ावा देने के लिये सरकार ने YUVA:युवा लेखकों को परामर्श हेतु प्रधानमंत्री की राष्ट्रीय योजना शुरू की है।

क्या है इस योजना का लक्ष्य

  • mygov पर दी गयी जानकारी के मुताबिक इस योजना का लक्ष्य 30 साल से कम उम्र के युवा लेखकों का एक समूह तैयार करना है, जो खुद को और भारतीय संस्कृति को लेखन के माध्यम से दुनिया के सामने लाना चाहते हैं। योजना भारतीय विरासत, संस्कृति और ज्ञान को बढ़ावा देने के लिये युवा लेखकों को तैयार करने में मदद करेगी।
  • युवा लेखकों को फिक्शन, नॉन फिक्शन, यात्रा, संस्मरण, नाटक, कविता और ऐसी ही विभिन्न शैलियों में लेखन में कुशल बनाने के लिए प्रशिक्षण दिया जायेगा।  

कैसे होगा लेखकों का चयन

  • योजना के तहत 75 युवा लेखकों का चयन किया जायेगा
  • इन लेखकों का चयन नेशनल बुक ट्रस्ट द्वारा गठित एक समिति के द्वारा किया जायेगा।
  • यह प्रतियोगिता 4 जून से शुरू हो चुकी है, इसमें 31 जुलाई तक हिस्सा लिया जा सकेगा। 
  • प्रतियोगिता में हिस्सा लेने वालों को 5000 शब्दों की पांडुलिपि (manuscript ) जमा करनी होगी।
  • चयनित लेखकों के नाम का ऐलान 15 अगस्त 2021 को स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर होगा।
  • चयनित युवा लेखक नॉमिनेट किये गये मेंटर के मार्गदर्शन में अंतिम चयन के लिये पांडुलिपि तैयार करेंगे।
  • विजेताओं की प्रविष्टियां 15 दिसंबर 2021 तक प्रकाशन के लिये तैयार होंगी, प्रकाशित किताबों का लोकार्पण 12 जनवरी 2022 को युवा दिवस पर किया जा सकता है।

विजेताओं को क्या होगा फायदा

  • विजेताओं को 3 महीने प्रशिक्षण मिलेगा और 3 महीने प्रमोशन के लिये मिलेगा।
  • युवा लेखकों को साहित्यिक उत्सवों, पुस्तक मेला, वर्चुअल बुक फेयर, सांस्कृतिक कार्यक्रमों जैसे अंतर्राष्ट्रीय आयोजनों में सीखने के अवसर मिलेंगे।
  • मेंटरशिप योजना के तहत हर लेखक को 6 महीने तक प्रति माह 50 हजार रुपये स्कॉलरशिप के रूप में प्राप्त होंगे।
  • मेंटरशिप कार्यक्रम के तहत चयनित लेखक पुस्तक को एनबीटी द्वारा प्रकाशित किया जायेगा।
  • मेंटरशिप कार्यक्रम के अंत में पुस्तकों के सफल प्रकाशन पर लेखको को 10 प्रतिशत रॉयल्टी देय होगी।
  • इन पुस्तकों का अन्य भाषाओं में अनुवाद भी किया जायेगा

कैसे करें आवेदन

  • आवेदन के लिये आपको https://www.mygov.in/ पर जाना होगा।
  • यहां आपको मेन पेज पर Mentoring YUVA scheme का लिंक मिल जायेगा
  • लिंक के जरिये आप इस स्कीम के पेज तक पहुंच सकते हैं। जहां से आपको स्कीम की नियम शर्ते, जानकारियां मिलेगी और यहीं से आप योजना में आवेदन भी कर सकते हैं। 

यह भी पढ़ें: प्रधानमंत्री मोदी की स्वदेशी अपनाने की अपील का असर, खादी ग्रामोद्योग का कारोबार रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचा