वेदांता ग्रुप की ESL ने की कारों को इलेक्ट्रिक वाहनों में बदलने की शुरुआत, अगले चरण में बसों को नंबर

vedanta ESL start converting cars in electric vehicle- India TV Paisa
Photo:ESL STEEL

vedanta ESL start converting cars in electric vehicle

नई दिल्ली। पर्यावरण संरक्षण एवं स्थायित्व के लिए अपनी प्रतिबद्धता तथा सभी वाहनों को 2025 तक इलेक्ट्रिक वाहनों में बदलने के लक्ष्य के साथ वेदांता ग्रुप की कंपनी एवं नेशनल स्टील प्लेयर ईएसएल स्टील लिमिटेड ने ईएसएल राईड ग्रीन पहल के तहत बोकारो में अपने कर्मचारियों के आवागमन के लिए सभी वाहनों को इलेक्ट्रिक वाहनों में बदलना शुरू कर दिया है। इस अभियान का लक्ष्‍य कार्बन फुटप्रिन्ट, जीवाश्म ईंधन की खपत एवं ग्रीन हाउस गैसों के उत्सर्जन को कम करना है।

ईएसएल की इस पहल से कार्बन उत्सर्जन में सालाना 430 टन की कमी आएगी, क्योंकि पेट्रोल या डीज़ल पर चलने वाले पारम्परिक वाहनों की तुलना में इलेक्ट्रिक वाहन पर्यावरण के लिए अनुकूल होते हैं। इसके अलावा इन वाहनों से शोर भी कम होता है, जिससे ध्‍वनि प्रदूषण का स्तर कम करने में भी मदद मिलेगी।

इलेक्ट्रिक वाहन सुरक्षित भी होते हैं, क्योंकि इनमें किसी तरह के ज्वलनशील पदार्थ का इस्तेमाल नहीं होता है। इन वाहनों को इस तरह से डिज़ाइन किया जाता है कि इनमें दुर्घटना या टक्कर की संभावना बहुत कम हो जाती है।

ईएसएल स्‍टील लिमिटेड के सीईओ एन.एल. वट्टे ने कहा कि ईएसएल वेदांता ग्रुप का पहला कारोबार है] जो अपने प्लांट परिसरों में कर्मचारियों के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों की शुरूआत कर रहा है। मुझे खुशी है कि हम पूरी तरह से इलेक्ट्रिक वाहन अपनाने के लक्ष्य की ओर बढ़ रहे हैं, जो भारत का भविष्य है। अपनी कारों को इलेक्ट्रिक वाहनों में बदलकर हम भारत को स्थायी स्टील प्लेयर बनाने के लक्ष्य के करीब जा रहे हैं और हम जल्द से जल्द इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं।

भारत के स्थायी भविष्य के निर्माण के लिए कंपनी विभिन्न इलेक्ट्रिक एवं हाइब्रिड वाहन समाधानों पर काम कर रही है। इसी साल गणतन्त्र दिवस के मौके पर ईएसएल ने अपने ईएसएल राईड्स ग्रीन अभियान के तहत इलेक्ट्रिक व्हीकल सब्सक्रिप्शन प्लेटफॉर्म ईवीज़ के साथ साझेदारी में 40 ई-साइकलें और 10 ई-स्कूटर लॉन्च किए थे। वर्तमान में ईएसएल के कर्मचारियों द्वारा प्लांट परिसर में इलेक्ट्रिक वाहनों का उपयोग किया जा रहा है।

अगले चरण में, ईएसएल ने अपनी बसों को इलेक्ट्रिक वाहनों में बदलने की योजना बनाई है। कंपनी ने 2025 तक अपने सभी वाहनों को इलेक्ट्रिक वाहनों में बदलने का लक्ष्य तय किया है।

यह भी पढ़ें: भारत ने फ्रांस, ब्रिटेन, कनाडा, नॉर्वे, फिनलैंड को छोड़ा पीछे

यह भी पढ़ें: Bharti Airtel और Vodafone Idea को लगा जोर का झटका…

यह भी पढ़ें: कोविड-19 वैक्‍सीन के बाद अब अदार पूनावाला देशवासियों को देंगे सस्‍ता लोन

यह भी पढ़ें: Airtel ने दिया अपने उपभोक्‍ताओं को मॉनसून का तोहफा, कम पैसे में मिलेगा अब ज्‍यादा डेटा

यह भी पढ़ें: अमेरिका ने भारत को बताया चुनौतीपूर्ण जगह, साथ में दिया सुझाव