शेयर बाजार पर इस सप्ताह भी रहेगा कोरोना प्रतिबंधों का असर, सिर्फ 3 सत्र में होगा कारोबार

बाजार में कैसा रहेगा...- India TV Paisa
Photo:PTI

बाजार में कैसा रहेगा अगला हफ्ता

नई दिल्ली।| देश के शेयर बाजार पर इस सप्ताह भी कोरोना  का साया बना रहेगा। हालांकि निवेशकों की नजर आगे जारी होने वाले ऑटो की बिक्री के आंकड़ों और अमेरिकी बांड बाजार के रुख पर बनी रहेगी। वहीं, प्रमुख आर्थिक आंकड़ों का भी बाजार पर असर देखने को मिलेगा। सप्ताह के आरंभ में सोमवार को होली का अवकाश है जबकि आखिर में शुक्रवार को गुड फ्राइडे की छुट्टी है, इसलिए घरेलू शेयर बाजार में इस हफ्ते सिर्फ तीन सत्रों में ही कारोबार होगा। जानकारों की मानें तो शेयर बाजार में इस सप्ताह भी उतार-चढ़ाव का दौर जारी रहेगा।

कोरोनावायरस संक्रमण का प्रकोप गहराता जा रहा है। पिछले 24 घंटों में देशभर में कोरोना संक्रमण के 62,714 नए मामलों की पुष्टि हुई है। इससे पहले इतनी बड़ी संख्या में पिछले साल 16 अक्टूबर को मामले दर्ज हुए थे। केंद्रीय स्वास्थ मंत्रालय की रविवार की रिपोर्ट के अनुसार, अब तक देश में कोरोनावायरस संक्रमण के कुल 1,19,71,624 मामले दर्ज हुए हैं। वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रतिबंधात्मक उपाय जगह-जगह किए जा रहे हैं। चालू वित्त वर्ष 2020-21 की समाप्ति को लेकर भी कारोबारी रुझान मंद रह सकता है।

हालांकि विदेशी बाजारों से मिलने वाले संकेतों से घरेलू शेयर बाजार की चाल तय होगी। खासतौर से अमेरिकी बांड बाजार रुख से एशियाई शेयर बाजारों को दिशा मिलेगी क्योंकि बांड यील्ड में इजाफा होने से विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) अपने पैसे भारत जैसे उभरती हुई अर्थव्यवस्थाओं के बाजार से निकालना चाहेंगे जिससे बिकवाली का दबाव बना रह सकता है। अगले महीने के आरंभ से ही ऑटो कंपनियां मार्च महीने की अपनी बिक्री के आंकड़े जारी करेंगी जिन पर निवेशकों की नजर बनी रहेगी। वहीं, बुधवार को देश के इन्फ्रास्ट्रक्चर आउटपुट के फरवरी महीने के आंकड़े जारी होंगे।

घरेलू शेयर बाजार की चाल तय करने में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले देसी करेंसी रुपये की चाल और अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के भाव की भी अहम भूमिका होगी।

वहीं, विदेशों में सप्ताह के दौरान जारी होने वाले प्रमुख आर्थिक आंकड़ों का भी असर वैश्विक बाजारों पर देखने को मिलेगा। अमेरिका में मार्केट मैन्युफैक्चरिंग पीएमआई के मार्च महीने के आंकड़े जारी होंगे और इसी दिन चीन में भी कैक्सिन मैन्युफैक्चरिंग पीएमआई के मार्च महीने के आंकड़े जारी होंगे। साथ ही, यूरो एरिया मार्किट मैन्युफैक्चरिंग पीएमआई के मार्च महीने के आंकडे़ भी बुधवार को ही जारी होंगे। जानकार बताते हैं कि कोरोना के गहराते कहर से देश की अर्थव्यवस्था में रिकवरी की रफ्तार पर पड़ने वाले असर की आशंकाओं से निवेशकों का मनोबल कमजोर बना रह सकता है।

यह भी पढ़ें :  4 करोड़ वाहनों पर भारी टैक्स लगाने की तैयारी, जानिए क्या आपका वाहन भी आएगा इस लिस्ट में