शेयर बाजार में होगी जमकर कमाई, अगर इन 4 गलतियों से रहेंगे दूर

शेयर बाजार में आम...- India TV Paisa
Photo:PTI

शेयर बाजार में आम निवेशकों से होने वाली 4 गलतियां

नई दिल्ली। जिंदगी में लगभग हर शख्स कभी न कभी शेयर बाजार में निवेश की सोचता है या फिर निवेश करता है। हालांकि अधिकांश मामलों में आम निवेशक नुकसान उठा कर बाजार से अपनी दूरी बना लेते हैं। बाजार में कई जोखिम होते हैं ऐसे में एक छोटी सी गलती किसी शख्स की कमाई को बर्बाद कर सकती है। अगर बाजार में निवेश की शुरुआत के दौरान आप कुछ छोटी छोटी गलतियों से बच गये तो शेयर बाजार आपके लिये काफी फायदे का सौदा भी साबित हो सकती है। जानिये क्या हैं वो गलतियां जो अक्सर आम निवेशक कर देते हैं।

दूसरों को देखकर निवेश की नई शुरुआत

खुदरा निवेशकों के साथ सबसे बड़ी समस्या ये होती है कि वो दूसरों को मिलने वाले रिटर्न देखकर निवेश की शुरुआत का फैसला करते हैं। दरअसल जानकार मानते हैं कि बाजार में जब तेज रिटर्न दिखना शुरू होता है, तब तक स्टॉक ऊपरी स्तरों पर पहुंचने लगते हैं। ऐसे में ऊपरी स्तरों पर निवेश जोखिम बढ़ा देता है। जानकारों की जो मूल सोच होती है उसके मुताबिक रिटेल निवेशक ऊंचाई पर पहुंचे स्टॉक्स से दूरी बनाए रखें और उसे ट्रेडर्स के लिए छोड़ दें। भले ही चार्ट पर उनका रिटर्न कितना शानदार क्यों न दिख रहा हो। निवेश गुरू वॉरेन बफे की माने तो वो शेयर तब खऱीदते हैं जब दुनिया बेच रही हो और वो शेयर तब बेचते हैं जब दुनिया खरीद रही हो। हां अगर निवेश की शुरुआत करनी ही हो तो कृपया किसी एक्सपर्ट से बात करें और साफ करें कि आप किस अवधि तक अपना पैसा बाजार में छोड़ना चाहते हैं।

इंट्रा डे कारोबार

खुदरा निवेशकों के नुकसान की सबसे बड़ी वजह जो बाजार के जानकार मानते हैं, वो ये है कि खुदरा निवेशक इंट्रा डे यानि एक दिन के कारोबार में दिखे रिटर्न के आधार पर बाजार में निवेश करते हैं हालांकि उनकी अपनी तैयारी लंबी अवधि के निवेश के आधार पर भी नहीं होती। इंट्रा डे कारोबार के लिए न केवल आपको बाजार की सामान्य से ज्यादा जानकारी चाहिए, साथ ही बाजार पर पूरे कारोबार के दौरान गंभीरता से नजर भी रखनी होती है। आप मौका चूके तो महज कुछ मिनटों में आप तेज मुनाफे से तेज घाटे में पहुंच सकते हैं। अगर आप बाजार के खिलाड़ी नहीं हैं और बाजार में कमाई करना चाहते हैं तो बेहतर होगा कि आप बाजार को कुछ समय दें, और उसे समझें। बाजार को लेकर समझ विकसित होने पर आने वाले समय में आप इंट्रा डे ट्रेडिंग को लेकर बेहतर फैसला कर सकेंगे।

पैनी स्टॉक्स

रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचे बाजार में रिटेल निवेशक सबसे ज्यादा नुकसान पैनी स्टॉक्स में उठाते हैं। दरअसल तेजी के दौरान इनका प्रदर्शन पूरे बाजार में सबसे शानदार दिखाई देता है। कई बार ऐसे स्टॉक एक हफ्ते में दोगुना या तीन गुना तक बढ़ जाते हैं। ऐसे में रिटेल निवेशक कम निवेश पर तेज मुनाफे की सोच कर इन स्टॉक्स में निवेश करते हैं। हालांकि पैनी स्टॉक्स में बढ़त के कई कारण होते हैं, जिसमें बाजार में मौजूद सीमित शेयर, छोटी ट्रेडिंग का भी बड़ा असर और कई बार जानबूझकर पैदा किया गया उछाल शामिल होता है। ध्यान रखें की कोई स्टॉक पैनी स्टॉक (अपनी फेस वैल्यू से भी नीचे) कैटेगरी में तब ही आता है जबकि उस कंपनी का स्थिति काफी बुरी हो जाती है। ऐसे में बेहद छोटी कीमत के स्टॉक्स से रिटेल निवेशक अपनी दूरी बनाए रखें।

 

अनजानी सलाहें

जो लोग कभी न कभी स्टॉक मार्केट में ट्रेड कर चुके होतें हैं उनके पास अक्सर उंचे रिटर्न का सलाह देने वाला एसएमएस या फिर किसी अनजाने ब्रोकर की तरफ से निवेश की सलाह आती है। कई बार लोग न केवल इसपर खुद अमल करते हैं साथ ही अपने करीबियों को भी इसकी सलाह देते हैं। बाजार जब दौड़ लगा रहा होता है तो हो सकता है कि छोटी अवधि में ऐसी सलाहें काम कर जाएं। हालांकि अक्सर ऐसी सलाहें लोगों की बड़ी रकम डूबने की वजह बनती है। दरअसल ऐसी अनजान सलाहें किसी स्कैम का हिस्सा हो सकती हैं, जिसका मकसद ज्यादा से ज्यादा लोगों को उस शेयर की खरीद में शामिल कर कीमतों को बढ़ाना होता है। अगर आप वास्तव में बाजार से कमाने चाहते हैं तो बेहतर होगा कि पहले अपने स्तर पर बाजार को समझें, बाजार के किसी जानकार के संपर्क में रहें साथ ही जिन स्टॉक में निवेश कर रहे हैं उनके बारे में भी रिसर्च रखें।

यह भी पढ़ें: ऑटो सेक्टर की बिक्री सुधरी, जानिये जून में कैसा रहा कंपनियों का प्रदर्शन

यह भी पढ़ें: शेयर बाजार में लगातार चौथे दिन गिरावट दर्ज, निफ्टी 15700 से नीचे हुआ बंद