सऊदी अरामको को पछाड़ Apple बनी दुनिया की सबसे मूल्यवान कंपनी, मार्केट कैप हुआ 184,000 करोड़ डॉलर

Apple overtakes Saudi Arabia’s Aramco to become world’s most valuable company- India TV Paisa
Photo:FOOL

Apple overtakes Saudi Arabia’s Aramco to become world’s most valuable company

सैन फ्रांसिस्को। दुनियाभर में फैली कोरोना वायरस महामारी के बावजूद साल की शुरूआत में बेहतर नतीजे आने के बाद दिग्‍गज टेक्‍नोलॉजी कंपनी एप्‍पल अब सऊदी अरब की तेल कंपनी साउदी अरामको को पछाड़ कर दुनिया की सबसे मूल्यवान कंपनी की सूची में पहले पायदान पर पहुंच गई है। एप्‍पल का बाजार पूंजीकरण 184,000 करोड़ डॉलर के सर्वकालिक उच्‍च स्‍तर पर पहुंच गया है।

सीएनबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, बेहतर कारोबार के साथ एप्‍पल के शेयरों में शुक्रवार तक 10.47 प्रतिशत उछाल आया है और इसी के साथ दुनिया की सबसे बड़ी तेल कंपनी को पीछे करते हुए एप्‍पल सार्वजनिक रूप से कारोबार करने वाली दुनिया की सबसे मूल्यवान कंपनी बन गई है।

साउदी अरामको का बाजार पूंजीकरण फिलहाल 176,000 करोड़ डॉलर है। महामारी के चलते एप्‍पल की आपूर्ति श्रृंखला प्रभावित हुई थी और इसके चलते आईफोन निर्माण कंपनी को दुनियाभर में अपने सारे रिटेल स्टोर्स भी बंद रखने पड़े लेकिन इन सबके बावजूद कंपनी के शेयरों में इस साल 44 प्रतिशत तक की बढ़त दर्ज की गई। एप्‍पल ने अपने वित्त वर्ष 2020 की तीसरी तिमाही में 59.70 अरब डॉलर का कारोबार किया है, जो पिछले साल की समान तिमाही से 11 प्रतिशत ज्यादा है।

वैश्विक स्मार्टफोन बाजार में गिरावट के बावजूद एप्पल की बिक्री 25 फीसदी बढ़ी

 वैश्विक स्मार्टफोन बाजार में इस वर्ष की दूसरी तिमाही में 14 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है, मगर एप्पल एकमात्र ऐसी स्मार्टफोन कंपनी बनी हुई है, जिसने इस अवधि के दौरान वैश्विक स्तर पर 4.51 करोड़ आईफोन की बिक्री की है। एक नई रिपोर्ट के मुताबिक, एप्पल ने पिछले वर्ष की तुलना में इस अवधि में 25 फीसदी की वृद्धि दर्ज की है। मार्केट रिसर्च फर्म कैनैलयस की रिपोर्ट के अनुसार, दूसरी तिमाही में बिक्री या शिपमेंट के मामले में सैमसंग को 30 फीसदी, हुआवे को पांच फीसदी, श्याओमी को 10 फीसदी, ओप्पो को 16 फीसदी और अन्य निर्माताओं को 23 फीसदी की गिरावट झेलनी पड़ी है।

विश्लेषक विंसेंट थिएलके ने कहा, एप्पल ने दूसरी तिमाही में उम्मीदों को एक प्रकार से ललकारा है। तिमाही में इसका नया आईफोन एसई महत्वपूर्ण रहा है, जिसका वैश्विक मात्रा का लगभग 28 प्रतिशत हिस्सा रहा है, जबकि आईफोन 11 लगभग 40 प्रतिशत दर के साथ मजबूत बेस्ट सेलर है। थीलके के अनुसार, एप्पल के अगले फ्लैगशिप की रिलीज में देरी के बीच, आईफोन एसई इस साल वॉल्यूम बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण रहेगा।

थीलके ने कहा, चीन में, इसका परिणाम ब्लॉकबस्टर था, जो कि 35 प्रतिशत बढ़कर 77 लाख यूनिट तक पहुंच गया। यह एप्पल की दूसरी तिमाही शिपमेंट के लिए क्रमिक रूप से वृद्धि के लिए असामान्य है। अप्रैल और मई के दौरान कोविड-19 महामारी के कारण लॉकडाउन के आदेशों के कारण दुनिया भर में स्मार्टफोन बाजार 28.5 करोड़ यूनिट तक गिर गया।

वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही के दौरान हुआवे का जलवा देखने को मिला। इस अवधि के दौरान उसने 5.58 करोड़ यूनिट्स की बिक्री की, जबकि सैमसंग 5.37 करोड़ और एप्पल 4.51 करोड़ यूनिट्स के साथ दूसरे व तीसरे स्थान पर रहे। इसके अलावा श्याओमी 2.88 करोड़ यूनिट के साथ चौथे स्थान पर रही, जिसे 10 फीसदी की गिरावट का सामना करना पड़ा। ओप्पो ने वीवो को पीछे छोड़ते हुए पांचवां स्थान प्राप्त किया। ओप्पो ने 16 प्रतिशत की गिरावट के साथ 2.58 करोड़ यूनिट की बिक्री की।