सूखाग्रस्त क्षेत्र में ‘धरती ने उगला सोना’, सिर्फ बीज बेचकर ये किसान ​कर रहा है 1 करोड़ की कमाई

सूखाग्रस्त क्षेत्र...- India TV Paisa
Photo:BUNGENORTHAMERICA

सूखाग्रस्त क्षेत्र में ‘धरती ने उगला सोना’, सिर्फ बीज बेचकर ये किसान ​कर रहा है 1 करोड़ की कमाई

किसान हर साल अपने खेतों में जी तोड़ मेहनत कर फसल पैदा करते हैं। इस फसल को बाजार में बेचकर उनकी कमाई होती है। लेकिन महाराष्ट्र के अकोला जिले का एक किसान ऐसा भी है जो कि अपनी फसल बेचकर नहीं बल्कि सिर्फ बीज बेचकर ही 1 करोड़ रुपये की कमाई कर रहा है। इस किसान ने बीते साल सोयाबीन की जो फसल पैदा की थी, उसी से बीत तैयार कर वह किसानों को बेच रहा है। एक किसान को उम्मीद है कि वह सोयाबीन के बीज बेचकर करीब एक करोड़ रुपये कमा लेगा। 

बता दें कि अकोला जिल की बार्शिटाकली तहसील में एक गांव है टिटवी। यहीं पर एक प्रगतिशील किसान मोहन देशमुख रहते हैं। मोहन के पास 100 एकड़ का खेत हैं। जिसमें देशमुख ने पिछले साल सोयाबीन की फसल लगाई थी। फसल अच्छी हुई और उनके खेत से 1000 टन सोयाबीन का उत्पादन हुआ। 

पढें–  हिंदी समझती है ये वॉशिंग मशीन! आपकी आवाज पर खुद धो देगी कपड़े

पढें–  किसान सम्मान निधि मिलनी हो जाएगी बंद! सरकार ने लिस्ट से इन लोगों को किया बाहर

मोहन चाहें तो यह फसल बाजार में बेच सकते थे। लेकिन जिला कृषि अधिकारी ने मोहन देशमुख को यह फसल बीज के रूप में बेचने की सलाह दी। कृषि अधिकारी की सलाह पर मोहन देशमुख अब तक 700 क्विंटल बीज बेच चुके हैं। इस बीच बिक्री से देशमुख को अब तक 84 लाख रुपये की आय हुई  है। 

सूखा पीड़ित विदर्भ क्षेत्र में देशमुख अधिक दाम पर नहीं बल्कि रियायती दरों पर बीज उपलब्ध करा कर भी कमाई कर रहे हैं। देशमुख से बीज खरीदना किसानों को काफी सस्ता पड़ता है। सोयाबीन के बीज बाजार में 160 रुपये किलो बिक रहे हैं, लेकिन देशमुख ने इसे किसानों को 120 रुपये प्रति किलो की दर से बेचा है। वहीं गरीब किसानों को तो देशमुख ने इन बीजों को 90 रुपये प्रति किलोग्राम की रियायती दर पर भी बेचा है।

पढें–  LPG ग्राहकों को मिल सकते हैं 50 लाख रुपये, जानें कैसे उठा सकते हैं लाभ

पढें–  खुशखबरी! हर साल खाते में आएंगे 1 लाख रुपये, मालामाल कर देगी ये स्कीम

देशमुख कहते हैं कि वे अब 300 टन और सोयाबीन के बीच बेचने जा रहे हैं, जिससे उन्हें करीब 20 लाख रुपये की आय होने की संभावना है। मोहन देशमुख के अनुसार इस बीज बिक्री में करीब 50 फीसदी यानि 50 लाख रुपये उनका मुनाफा होगा।