सेंसेक्स पहली बार 53,000 अंक के पार; धातु, वित्तीय शेयरों में तेजी

सेंसेक्स पहली बार 53,000 अंक के पार; धातु, वित्तीय शेयरों में तेजी- India TV Paisa
Photo:FILE

सेंसेक्स पहली बार 53,000 अंक के पार; धातु, वित्तीय शेयरों में तेजी

मुंबई: बीएसई सेंसेक्स बुधवार को 194 अंक उछलकर पहली बार 53,000 अंक के ऊपर बंद हुआ। केंद्रीय मंत्री परिषद में फेरबल से पहले निवेशकों की लिवाली से धातु, वित्तीय और बैंक शेयरों में तेजी के साथ बाजार को मजबूती मिली। कारोबारियों के अनुसार हालांकि डॉलर के मुकाबले रुपये की विनिमय दर में गिरावट तथा वैश्विक स्तर पर कमजोर रुख से तेजी पर कुछ अंकुश लगा। 

उतार-चढ़ाव भरे कारोबार से बाहर निकलते हुए तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 193.58 अंक यानी 0.37 प्रतिशत उछलकर रिकॉर्ड ऊंचाई 53,054.76 पर बंद हुआ। इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 61.40 अंक यानी 0.39 प्रतिशत की तेजी के साथ अपने सर्वोच्च स्तर 15,879.65 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स के शेयरों में 4.38 प्रतिशत की तेजी के साथ सर्वाधिक लाभ में टाटा स्टील का शेयर रहा। 

इसके अलावा, बजाज फिनसर्व, इंडसइंड बैंक, एचडीएफसी, नेस्ले इंडिया, एशियन पेंट्स, सन फार्मा और पावर ग्रिड में भी अच्छी तेजी रही। दूसरी तरफ टाइटन, मारुति, रिलायंस इंडस्ट्रीज, महिंद्रा एंड महिंद्रा, टेक महिंद्रा और बजाज ऑटो समेत अन्य शेयर नुकसान में रहें। इनमें 2.06 प्रतिशत की गिरावट आयी। एलकेपी सिक्योरिटीज के शोध प्रमुख एस रंगनाथन के अनुसार, ‘‘दोपहर के कारोबार में धातु शेयरों की अगुवाई में बाजार में तेजी लौटी। मंत्रिमंडल में फेरबदल को लेकर भी निवेशकों में रुचि है क्योंकि निजी क्षेत्र के छोटे बैंकों में तेज गतिविधियां देखने को मिली।’’ 

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर के अनुसार, ‘‘एफओएमसी (फेडरल ओपन मार्केट कमेटी) की बैठक क ब्योरा जारी होने से पहले वैश्विक बाजारों में मिला-जुला रुख रहा। निवेशकों ने निवेश का सुरक्षित जरिये बांड और डॉलर में निवेश को तरजीह दी। बिक्री पूर्व आंकड़े बेहतर होने से निवेशक रियल्टी शेयर की ओर आकर्षित हुए। धातु शेयरों में भी तेजी रही।’’ 

एशिया के अन्य बाजारों में हांगकांग, सियोल और तोक्यो नुकसान में रहे जबकि शंघाई में तेजी रही। यूरोप के प्रमुख बाजारों में शुरुआती कारोबार में तेजी का रुख रहा। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक 1.64 प्रतिशत की तेजी के साथ 75.75 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया। अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये की विनिमय दर 7 पैसे टूटकर 74.62 पर बंद हुई। शेयर बाजार के पास उपलब्ध आंकड़े के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशक मंगलवार को पूंजी बाजार में शुद्ध बिकवाल रहे। उन्होंने 543.30 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर बेचे।