सेंसेक्स में 194 अंक की गिरावट, निफ्टी 11,150 के नीचे हुआ बंद

stock market today- India TV Paisa
Photo:GOOGLE

stock market today

नई दिल्ली। विदेशी बाजारों से मिले नकारात्मक संकेतों से घरेलू शेयर बाजार हफ्ते के पहले कारोबारी सत्र में गिरावट के साथ बंद हुए हैं। सोमवार के कारोबार में सेंसेक्स 194 अंक की गिरावट के साथ 37,935 पर और निफ्टी 62 अंक की गिरावट के साथ 11,132 के स्तर पर बंद हुआ है। आज के कारोबार में सबसे ज्यादा गिरावट बैंकिंग सेक्टर में देखने को मिली है।  

विदेशी बाजारों में आज की गिरावट अमेरिका और चीन में तनाव बढ़ने और कोरोना वायरस की दूसरी लहर लौटने की आशंका की वजह से दर्ज हुई है। चीन ने चेंगदू में स्थित अमेरिकी कॉन्सुलेट के भवन को अपने कब्जे में ले लिया है, इससे दोनो देशों के बीच तनाव और बढ़ने की संभावना जताई जा रही है। वहीं ब्रिटेन ने स्पेन से लौटने वाले यात्रियों के लिए क्वारंटाइन को लेकर नए कड़े नियम जारी किए है जिससे यूरोप में रिकवरी की उम्मीद कर रहे पर्यटन, टूरिज्म और एविएशन सेक्टर को बड़ा झटका लगा है। इसके साथ ही चीन, ऑस्ट्रेलिया और वियतनाम में नए मामले सामने आने से कोरोना संकट की दूसरी लहर के आने की आशंका बन गई है। इन सभी संकेतों की वजह से निवेशक स्टॉक मार्केट को लेकर सतर्क रुख रख रहे हैं। 

यूरोपियन और एशियाई बाजारों में आज संकेत मिले जुले रहे हैं, घरेलू शेयर बाजार के बंद होने के वक्त जर्मनी के DAX में 0.43 फीसदी की बढ़त देखने को मिल रही थी। दूसरी तरफ फ्रांस के CAC 40 में 0.03 फीसदी और यूके के FTSE 100 में 0.09 फीसदी की गिरावट थी। एशियाई बाजारों में चीन के बाजार बढ़त में रहे, शंघाई कंपोजिट 0.26 फीसदी की बढ़त के साथ बंद हुआ । इसके साथ ही ताइवान का TSEC 50 इंडेक्स में 2.31 फीसदी की बढ़त रही। वहीं हॉन्गकॉन्ग के हेंगसेंग में 0.41 फीसदी और जापान के निक्केई में 0.16 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है।  

आज के कारोबार में सबसे ज्यादा गिरावट बैंकिंग सेक्टर में देखने को मिली है। बैंकिंग सेक्टर इंडेक्स 3.59 फीसदी की गिरावट के साथ बंद हुआ है। वहीं फाइनेंशियल सर्विसेज इंडेक्स में 2.47 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है। फार्मा सेक्टर में 1.72 फीसदी, रियल्टी सेक्टर में 1.66 फीसदी और एफएमसीजी सेक्टर में 0.64 फीसदी की गिरावट रही। दूसरी तरफ आईटी सेक्टर में 1.97 फीसदी और मेटल सेक्टर में 0.33 फीसदी की बढ़त दर्ज हुई।