1 जुलाई से इस सरकारी बैंक के IFSC कोड्स जाएंगेे बदल, फंड ट्रांसफर के लिए पड़ती है इसकी जरूरत

IFSC codes of erstwhile Syndicate bank branches to change from July 1- India TV Paisa
Photo:CANARA BANK

IFSC codes of erstwhile Syndicate bank branches to change from July 1

नई दिल्‍ली। सार्वजनिक क्षेत्र के केनरा बैंक ने शुक्रवार को कहा कि पूर्ववर्ती सिंडिकेट बैंक की शाखाओं का आईएफएससी कोड (IFSC codes) एक जुलाई, 2021 से बदल जाएगा। केनरा बैंक ने बयान में कहा कि ग्राहकों को एनईएफटी/ आरटीजीएस/ आईएमपीएस के जरिये कोष प्राप्त करने के लिए नए केनरा आईएफएससी का इस्तेमाल करना होगा। बयान में कहा गया है कि नया आईएफएससी यूआरएल केनराबैंक.कॉम/आईएफएसी.एचटीएमएल या केनरा बैंक की वेबसाइट पर जाकर या केनरा बैंक की किसी शाखा में जाकर हासिल किया जा सकेगा।

पूर्ववर्ती सिंडिकेट बैंक के ग्राहकों को बदले आईएफएससी और एमआईसीआर कोड के साथ नई चेक बुक हासिल करनी होगी। पूर्ववर्ती सिंडीकेट बैंक का स्विफ्ट कोड, जिसका उपयोग फॉरेन एक्‍सचेंज ट्रांजैक्‍शन के लिए स्विफ्ट मेसैज भेजने या प्राप्‍त करने के लिए किया जाता है, एक जुलाई 2021 से बंद हो जाएगा। बयान में कहा गया है कि हम अपने सभी उपभोक्‍ताओं को सूचित करते हैं कि वह अपने किसी भी फॉरेन एक्‍सचेंज जरूरत के लिए स्‍विफ्ट कोड CNRBINBBFD का प्रयोग करें। केनरा बैंक देश का चौथा सबसे बड़ा सार्वजनिक बैंक है। अप्रैल 2020 में सिंडीकेट बैंक का विलय इसके साथ हो गया है।

येस बैंक बोर्ड ने 10,000 करोड़ रुपये जुटाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी

येस बैंक को ऋण प्रतिभूतियों के जरिये 10,000 करोड़ रुपये जुटाने के लिए निदेशक मंडल से मंजूरी मिल गई। येस बैंक ने एक नियामकीय सूचना में कहा कि उसके निदेशक मंडल ने 10 जून, 2021 को हुई बैठक में ऋण प्रतिभूतियां जारी कर भारतीय/विदेशी मुद्रा में 10,000 करोड़ रुपये तक की धनराशि जुटाने की योजना पर विचार किया और उस पर शेयरधारकों की सहमति लेने की मंजूरी दे दी। बैंक ने कहा कि जारी की जाने वाली ऋण प्रतिभूतियों में गैर परिवर्तनीय डिबेंचर, बांड, मध्यमकालीन नोट (एमटीएन) सहित अन्य शामिल होंगे। बीएसई में येस बैंक का शेयर 3.03 प्रतिशत बढ़कर 14.64 रुपये पर बंद हुआ।

यह भी पढ़ें: बैंक ग्राहकों के लिए बुरी खबर, ATM से अधिक बार पैसा निकालने पर देना होगा ज्यादा शुल्क

यह भी पढ़ें: किसानों के लिए खुशखबरी, देश में पहली बार उनके लिए शुरू हुई माइक्रो ATM सर्विस

यह भी पढ़ें:Covid-19 की वजह से ऑटो इंडस्‍ट्री को लगा झटका, मई में बिके बस इतने वाहन

यह भी पढ़ें: घाटे की भरपाई के लिए कोविड बांड पर विचार कर सकती है सरकार