Adani विल्मर ने ‘कोहिनूर’ सहित कई ब्रांड खरीदे, खाद्य कारोबार को मजबूत करने का इरादा

Rice- India TV Paisa
Photo:FILE

Rice

Highlights

  • एफएमसीजी श्रेणी में एडब्ल्यूएल की स्थिति मजबूत होगी
  • कोहिनूर ब्रांड के पास मजबूत ब्रांड पहचान है
  • कोहिनूर और फॉर्च्यून ब्रांड की पहुंच का लाभ उठाने की तैयारी

Adani विल्मर लिमिटेड (एडब्ल्यूएल) ने मंगलवार को मैककॉर्मिक स्विट्जरलैंड जीएमबीएच से प्रसिद्ध ‘कोहिनूर’ ब्रांड सहित कई ब्रांडों के अधिग्रहण की घोषणा की। कंपनी ने खाद्य कारोबार को मजबूत करने के इरादे से किए गए इन सौदों की रकम का ब्यौरा नहीं दिया है। कंपनी ने एक बयान में कहा कि इस अधिग्रहण से एडब्ल्यूएल को भारत में कोहिनूर ब्रांड के तहत ‘रेडी टू कुक’, ‘रेडी टू ईट’ करी और खाद्य पोर्टफोलियो के साथ ‘कोहिनूर’ बासमती चावल ब्रांड पर विशेष अधिकार मिल जाएगा।

एफएमसीजी श्रेणी में स्थिति मजबूत होगी।

कोहिनूर के घरेलू ब्रांड पोर्टफोलियो से एफएमसीजी श्रेणी में एडब्ल्यूएल की स्थिति मजबूत होगी। इस अधिग्रहण से एडब्ल्यूएल चावल और अन्य मूल्य वर्धित खाद्य व्यवसायों में अधिक उत्पादों की पेशकश कर सकेगी। एडब्ल्यूएल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और प्रबंध निदेशक अंगशु मल्लिक ने कहा, हम फॉर्च्यून परिवार में कोहिनूर ब्रांड का स्वागत करते हुए प्रसन्न हैं। यह अधिग्रहण उच्च मार्जिन वाले ब्रांडेड स्टेपल और खाद्य उत्पाद खंड में हमारे पोर्टफोलियो का विस्तार करने की हमारी व्यावसायिक रणनीति के अनुरूप है। उन्होंने कहा कि कोहिनूर ब्रांड के पास मजबूत ब्रांड पहचान है और इससे खाद्य एफएमसीजी श्रेणी में कंपनी की स्थिति मजबूत करने में मदद मिलेगी। 

बाजार हिस्सेदारी बढ़ाने में मदद मिलेगी 

खाद्य एफएमसीजी श्रेणी में अडानी समूह की कंपनी के नेतृत्व की स्थिति से मूल्य वर्धित उत्पादों को बढ़ाने की क्षमता के साथ एक मजबूत उत्पाद को बढ़ाने की उम्मीद है। इसके अलावा कोहिनूर और फॉर्च्यून ब्रांड की पहुंच का लाभ उठाने के लिए भौगोलिक क्षेत्रों में कंपनी के लिए तालमेल से चलाने की उम्मीद है।