Akshaya Tritiya: महंगाई के बीच भी क्या सोना खरीदने निकलेंगे ग्राहक! आभूषण कारोबारियों की बढ़ी उम्मीदें

Gold- India TV Paisa
Photo:PIXABAY

Gold

Highlights

  • कारोबारी अक्षय तृतीया पर सोने के आभूषणों की अच्छी खरीदारी की उम्मीद लगाए हुए हैं
  • कारोबारियों का मानना है कि इस बार बिक्री 2019 के स्तर को भी पार कर सकती है
  • सोने के दाम में हालिया वृद्धि इसकी राह में एक अवरोध बन सकती है

Akshaya Tritiya: कमर तोड़ महंगाई के बावजूद क्या इस बार अक्षय तृतीया के दिन भारतीय महिलाएं क्या सोना खरीदने के लिए घर से निकलेंगी। इस बात में आपको कोई हिचक हो, लेकिन ज्वैलर्स को इस साल बिक्री बढ़ने की तगड़ी उम्मीद दिख रही है। कोविड महामारी का प्रकोप कम होने से आर्थिक गतिविधियों में धीरे-धीरे आ रहे सुधारों को देखते हुए आभूषण कारोबारी इस साल अक्षय तृतीया पर सोने के आभूषणों की अच्छी खरीदारी की उम्मीद लगाए हुए हैं। 

कारोबारियों का मानना है कि इस बार बिक्री 2019 के स्तर को भी पार कर सकती है। हालांकि कुछ आभूषण कारोबारियों को लगता है कि सोने के दाम में हालिया वृद्धि इसकी राह में एक अवरोध बन सकती है। सोने की खरीदारी के लिए शुभ मानी जाने वाली अक्षय तृतीया देश भर में तीन मई को मनाई जाएगी। 

क्या है सोने का भाव 

एमसीएक्स पर सोने के दाम 52,000 रुपये प्रति 10 ग्राम हैं, वहीं अंतरराष्ट्रीय बाजार में यह 1,897 डॉलर प्रति औंस पर बिक रहा है। विश्व स्वर्ण परिषद के क्षेत्रीय मुख्य कार्यपालक अधिकारी (भारत) सोमसुंदरम पीआर ने कहा, ‘‘भारत में सोने का एक मजबूत सांस्कृतिक जुड़ाव है और त्योहारों के अवसर पर इसके महत्व के साथ इसकी आर्थिक अहमियत भी है। अक्षय तृतीया पर लाखों लोग परंपरागत रूप से सोना खरीदेंगे और कम से कम शगुन के लिए खरीदारी जरूर करेंगे।’’ 

दाम बढ़ने से घटी प्री बुकिंग 

कोविड संबंधी प्रतिबंधों में ढील, मुद्रास्फीति संबंधी अपेक्षाओं के साथ आर्थिक विकास से लबरेज जनमानस की भावनाएं त्योहारों के मौसम में सोने की खरीद को प्रोत्साहित कर सकती हैं। हालांकि दिशा तो कीमतों से ही तय होगी।’’ अखिल भारतीय रत्न एवं आभूषण घरेलू परिषद (जीजेसी) के अध्यक्ष आशीष पेठे ने कहा कि सोने के दाम बढ़ने से पूर्व-बुकिंग प्रभावित हुई है। हालांकि बीते कुछ दिनों में कीमतों में कमी आई है और मांग बढ़ने की उम्मीद है। 

पिछले साल से ज्यादा बिक्री की उम्मीद

उन्होंने कहा, ‘‘सोने की कीमतों के वर्तमान परिदृश्य और उपभोक्ताओं की सकारात्मक धारणा को देखते हुए, हमें उम्मीद है कि इस अक्षय तृतीया पर आभूषणों की बिक्री 2019 के स्तर के मुकाबले पांच फीसदी से भी अधिक रह सकती है।’’