Alibaba की यूसी वेब ने शुरू की भारत में कर्मचारियों की छंटनी, प्रतिबंध के बाद ऑपरेशन भी किया बंद

UC Web lays off employees, suspends operations in India amid ban on Chinese apps- India TV Paisa
Photo:GOOGLE

UC Web lays off employees, suspends operations in India amid ban on Chinese apps

नई दिल्‍ली। भारत-चीन सीमा विवाद के बीच 29 जून को 59 चीनी एप पर प्रतिबंध के बाद, प्रभावित कंपनियों ने देश में कर्मचारियों की छंटनी शुरू कर दी है। इन कंपनियों का कहना है कि प्रतिबंध की वजह से उन्हें भारी नुकसान हो रहा है। चीन की इंटरनेट दिग्‍गज कंपनी अलीबाबा ग्रुप की अनुषांगिक यूसी वेब, जो यूसी ब्राउजर और यूसी न्यूज का संचालन करती है, ने देश में अपने 90 प्रतिशत कर्मचारियों की छंटनी का काम शुरू कर दिया है। यूसी वेब के भारत में वर्तमान में 350 कर्मचारी हैं। यूसी वेब अपना परिचालन पहले ही बंद कर चुकी है, जिससे इसके गुरुग्राम और मुंबई कार्यालयों में लोगों की छंटनी प्रारंभ हो गई है। यह कंपनी प्रतिबंधित चीनी एप की सूची में शामिल है।

यूसी वेब के एक प्रवक्ता ने कहा कि हमने 59 एप से संबंधित सरकार के दिशा-निर्देशों का पालन किया है और सेवा को बंद कर दिया है। इससे पहले 7 जुलाई को जारी बयान में, यूसी ब्राउजर ने अपने भारतीय यूजर्स को चेतावनी दी थी कि अब उनका डेटा 10 जुलाई के बाद प्रयोग में नहीं लाया जा सकेगा। बयान में कहा गया था कि हम हालिया सरकार के दिशा-निर्देशों का पालन करेंगे, जिससे हमारी सेवा प्रभावित हो सकती है। कृपया अपने महत्वपूर्ण डेटा यूसी एप से निकाल कर अपने डिवाइस में सुरक्षित रख लें, 10 जुलाई 2020 के बाद ऐसा नहीं हो सकेगा।

दूसरी तरफ, चीन की दिग्गज कंटेंट कंपनी बाइटडांस के स्वामित्व वाली टिकटॉक को बैन से सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है, क्योंकि बैन से पहले भारत में इसके 12 करोड़ यूजर्स थे। चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स के अनुसार, बाइटडांस को करीब 6 अरब डॉलर का नुकसान होगा, क्योंकि प्रतिबंधित 59 एप्स में से इसके तीन एप शामिल हैं।

सूत्रों ने बताया कि यूसी वेब ने मौखिक रूप से अपने सभी कर्मचारियों को छंटनी की जानकारी दी है और सभी को न्‍यूनतम 30 दिन का नोटिस दिया जा रहा है। भारत सरकार ने चीन के साथ सीमा विवाद के बाद टिकटॉक, यूसी ब्राउजर, यूसी न्‍यूज, वीचैट, शेयरचैट सहित 59 चीनी एप को प्रतिबंधित कर दिया है। यूसी वेब ने अपने कुछ कर्मचारियों को 15 जुलाई को पत्र भेजकर उनकी नौकरी जाने की सूचना दी है।

यूसी वेब भारत में 2009 से काम कर रही है और यहां वह मोबाइल ब्राउजर यूसी ब्राउजर और न्‍यूज एग्रीगेशन सर्विस यूसी न्‍यूज का परिचालन कर रही थी। यूसी ब्राउजर के दुनियाभर में 43 करोड़ से अधिक यूजर्स हैं, इसमें से 13 करोड़ यूजर्स भारत में हैं। इसके 100 कर्मचारी और सैकड़ों थर्ड-पार्टी कर्मचारी हैं। गूगल क्रोम के बाद यूसी ब्राउजर भारत में दूसरा प्रमुख मोबाइल ब्राउजर है। जून में इसके पास 10 प्रतिशत बाजार हिस्‍सेदारी थी।