Bad news for job seekers: देश में बेरोजगारी बढ़ी लेकिन उत्तर प्रदेश में रोजगार के मौके में जोरदार उछाल

Unempolyment - India TV Paisa
Photo:FILE

Unempolyment 

Highlights

  • अप्रैल महीने में देश में बेरोजगारी दर बढ़कर 7.83 प्रतिशत हो गई
  • हरियाणा में सबसे ज्यादा 34.5 प्रतिशत बेरोजगारी दर दर्ज की गई
  • यूपी में बेरोजगारी दर घटकर 2.9% रह गई, जो मार्च में 4.4% पर थी

Bad news for job seekers: नौकरी ढूंढ रहे युवाओं के लिए बुरी खबर है। अप्रैल महीने में देश में बेरोजगारी दर बढ़कर 7. 83 प्रतिशत हो गई, जबकि मार्च में यह 7.

60 प्रतिशत रही थी। भारतीय अर्थव्यवस्था पर निगरानी रखने वाली संस्था सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकनॉमी (सीएमआईई) की रिपोर्ट से यह जानकारी मिली है। हालांकि, इस बीच अच्छी खबर है कि उत्तर प्रदेश में बेरोजगारी दर तेजी से घटी है। सीएमआई के अनुसार,उत्तर प्रदेश में बेरोजगारी दर अप्रैल 2022 में घटकर 2.9 प्रतिशत रह गई है, जो मार्च में 4.4 प्रतिशत पर थी। 

रोजगार देने में यूपी काफी आगे  

रोजगार उपलब्ध कराने के मामले में दिल्ली, पंजाब, राजस्थान, पश्चिम बंगाल, केरल और तमिलनाडु जैसे राज्यों के मुकाबले यूपी बहुत आगे है। दिल्ली की बेरोजगारी दर 11.2 प्रतिशत दर्ज की गई है, पश्चिम बंगाल में 6.2 प्रतिशत, तमिलनाडु में 3.2 प्रतिशत , पंजाब में 7.2 प्रतिशत , झारखंड में बेरोजगारी दर 14.2 प्रतिशत , केरल में 5.8 प्रतिशत और आंध्र प्रदेश में 5.8 प्रतिशत है। वहीं, देश की सबसे ज्‍यादा आबादी वाले यूपी में बेरोजगारी की दर 2.9 प्रतिशत है। यानी रोजगार उपलब्ध कराने के मामले में यूपी काफी आगे है। 

हरियाणा में सबसे ज्यादा बेरोजगारी 

अप्रैल के आंकड़े जारी करते हुए कहा कि शहरी क्षेत्रों में बेरोजगारी दर 9.22 प्रतिशत हो गई जबकि मार्च में यह 8.28 प्रतिशत पर थी। इसके उलट ग्रामीण क्षेत्रों में बेरोजगारी दर अप्रैल में घटकर 7.18 प्रतिशत पर आ गई। मार्च में यह 7.29 प्रतिशत रही थी। सीएमआईई के मुताबिक, हरियाणा में सबसे ज्यादा 34.5 प्रतिशत बेरोजगारी दर दर्ज की गई है। उसके बाद राजस्थान 28.8 प्रतिशत बेरोजगारी दर के साथ दूसरे स्थान पर है। बिहार 21.1 प्रतिशत के साथ तीसरे और जम्मू-कश्मीर 15.6 प्रतिशत के साथ चौथे स्थान पर है।

भारतीय अर्थव्यवस्था में तेजी से सुधार 

सीएमआईई के प्रबंध निदेशक महेश व्यास ने कहा कि अप्रैल में श्रम भागीदारी दर और रोजगार दर में भी बढ़ोतरी देखी गई है। उन्होंने भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए इसे एक अच्छी प्रगति बताया। व्यास ने कहा कि अप्रैल, 2022 में रोजगार दर 37.05 प्रतिशत पर पहुंच गई जो एक महीने पहले 36.46 प्रतिशत पर थी।