Campus IPO:मंगलवार से खुलेगा कैंपस एक्टिववियर का IPO, जानिए इश्यू प्राइस, साइज और कंपनी की वित्तीय सेहत

Campus IPO- India TV Paisa

Campus IPO

Highlights

  • कैंपस एक्टिववियर का आईपीओ 26 अप्रैल से 28 अप्रैल तक खुलेगा
  • कंपनी 278-292 रुपये प्रति इक्विटी शेयर की रेंज में अपने शेयर बेचेगी
  • कंपनी इस इश्यू के जरिए 1,400 करोड़ रुपये जुटाएगी

Campus Activewear IPO: कैजुअल शूज बनाने वाली दिग्गज भारतीय कंपनी कैंपस एक्टिववियर का आईपीओ कल यानी 26 अप्रैल को खुलेगा। इश्यू मंगलवार 26 अप्रैल को सब्सक्रिप्शन के लिए खुलेगा और गुरुवार, 28 अप्रैल तक इसे सब्सक्राइब किया जा सकता है। कंपनी 278-292 रुपये प्रति इक्विटी शेयर की रेंज में अपने शेयर बेचेगी। कंपनी के प्रमोटर हरि कृष्ण अग्रवाल और निखिल अग्रवाल ओएफएस में लगभग 12.5 मिलियन इक्विटी शेयर बेचेंगे, वहीं कंपनी के अन्य शेयर होल्डर TPG ग्रोथ III 29.1 मिलियन शेयर और QRG एंटरप्राइजेज 6.05 मिलियन शेयर बेचेंगे।

कैंपस एक्टिववियर आईपीओ: लॉट साइज

कंपनी इस इश्यू के जरिए 1,400 करोड़ रुपये जुटाएगी, जो पूरी तरह से कंपनी के प्रमोटरों और मौजूदा शेयरधारकों की ओर से ऑफर-फॉर-सेल (ओएफएस) है। वे ओएफएस में 4,79,50,000 शेयरों को 5 रुपये के अंकित मूल्य के साथ बेचेंगे। बता दें कि कंपनी को इश्यू से कोई आय नहीं मिलेगी।

कैंपस एक्टिववियर आईपीओ: लिस्टिंग और आवंटन तिथि

आईपीओ शेयरों के आवंटन को 4 मई को अंतिम रूप दिया जाएगा, जबकि रिफंड की शुरुआत 5 मई से शुरू होगी। शेयरों को 6 मई को डीमैट खातों में जमा किया जाएगा। आईपीओ लिस्टिंग 9 मई तक होने की संभावना है।

कंपनी का पोर्टफोलिया 

कैंपस एक्टिववियर का मुख्यालय दिल्ली में है। यह कंपनी 1995 में एक्शन शूज की एक शाखा के रूप में शुरू हुई थी। 2005 में कंपनी के प्रमोटर्स ने इसे एक्शन से पूरी तरह अलग कर नए ब्रांड के रूप में स्थापित किया। यह कंपनी किफायती कीमतों पर कई रंगों और शैलियों में जूते, फ्लोटर्स, चप्पल, फ्लिप फ्लॉप और सैंडल जैसे विभिन्न प्रकार के जूते का निर्माण करती है। कैंपस एक्टिववियर अपने उत्पादों को ऑनलाइन प्लेटफॉर्म और ऑफलाइन स्टोर के जरिए बेचता है। इसका अखिल भारतीय व्यापार वितरण नेटवर्क है, जिसके 28 राज्यों और 625 शहरों में 400 से अधिक वितरक हैं। कंपनी के पूरे भारत में 18,200 रिटेलर भी हैं।

कैंपस एक्टिववियर आईपीओ: फाइनेंशियल्स

कंपनी ने वित्तीय 2020-21 में 26.86 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ दर्ज किया, जो पिछले वर्ष के 62.37 करोड़ रुपये के बॉटमलाइन की तुलना में 57 प्रतिशत कम है। कंपनी के मुताबिक लाभ में यह कमी कोरोना लॉकडाउन के कारण आई है। इस अवधि में राजस्व लगभग 3 प्रतिशत घटकर 715.08 करोड़ रुपये हो गया। 31 दिसंबर, 2021 को समाप्त नौ महीनों के लिए, कंपनी ने 843.94 करोड़ रुपये के कुल राजस्व के साथ 84.80 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ दर्ज किया।

कैंपस एक्टिववियर आईपीओ: ग्रे मार्केट में सकारात्मक

आईपीओ से पहले ग्रे मार्केट का रुझान काफी सकारात्मक दिख रहा है। आज कैंपस का जीएमपी 60 रुपये है। एक दिन पहले कैंपस का जीएमपी 53 रुपये था। यानी ग्रे मार्केट में कंपनी का प्रदर्शन अब तक अच्छा रहा है। बाजार पर नजर रखने वाले विश्लेषकों का कहना है कि आज का कैंपस आईपीओ जीएमपी 60 रुपये का है। जो कल के मुकाबले 7 रुपये ज्यादा है। ग्रे मार्केट में कीमतों में पिछले तीन दिनों में 18 से 20 फीसदी का उछाल देखा गया है। इससे पता चलता है कि आईपीओ को अच्छे ग्राहक मिलेंगे।