Corona cess: ऊंचे कर की वजह से मई-जून में 60 प्रतिशत तक घटी शराब की बिक्री, राजस्‍व में आएगी बड़ी कमी

Liquor sales decline up to 60per cent in May-June in states with high Corona cess- India TV Paisa
Photo:FIRSTPOST

Liquor sales decline up to 60per cent in May-June in states with high Corona cess

नई दिल्‍ली। कई राज्यों ने कोरोना वायरस लॉकडाउन की पाबंदियों में ढील देने के बाद शराब पर 50 प्रतिशत से अधिक कोरोना उपकर लगाया, वहां मई और जून में शराब बिक्री में औसत 59 प्रतिशत की कमी देखने को मिली है। एक रिपोर्ट में यह दावा किया गया है।

शराब उद्योग के संगठन इंडियन अल्कोहलिक बेवरेज कंपनीज (सीआईएबीसी) ने एक रिपोर्ट में कहा कि दिल्ली, आंध्र प्रदेश, ओडिशा, जम्मू कश्मीर और पुद्दुचेरी जैसे राज्यों ने शराब पर 50 प्रतिशत से अधिक कोरोना उपकर लगाया था। इन राज्यों में शराब की बिक्री मई में 66 प्रतिशत और जून में 51 प्रतिशत तक कम रही है। रिपोर्ट के अनुसार, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय, राजस्थान, पश्चिम बंगाल, केरल और झारखंड जैसे राज्यों ने 15 से 50 प्रतिशत तक उपकर लगाया था। इन राज्यों में बिक्री में 34 प्रतिशत की औसत गिरावट दर्ज की गई।

जिन राज्यों ने 15 प्रतिशत तक का उपकर लगाया था, वहां महज 16 प्रतिशत की गिरावट देखने को मिली है। इन राज्यों में उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक, छत्तीसगढ़, हरियाणा, तमिलनाडु, महाराष्ट्र, असम, चंडीगढ़, मध्य प्रदेश, गोवा और पंजाब शामिल हैं। राष्ट्रीय स्तर पर, इस साल मई और जून में सालाना आधार पर बिक्री में क्रमश: 25 प्रतिशत और 15 प्रतिशत तक की गिरावट आई है। सीआईएबीसी के महानिदेशक विनोद गिरी ने कहा कि शराब उद्योग राज्य सरकारों के राजस्व में करीब 2.5 लाख करोड़ रुपए का योगदान देता है। हालांकि चालू वित्त वर्ष में इस राजस्व में 25 से 30 प्रतिशत की गिरावट आने वाली है।

उन्होंने कहा कि कुछ राज्यों में अधिक कर के कारण शराब की बिक्री में बड़ी गिरावट आई है। इसके अलावा बार और रेस्तराओं को खोलने में देरी से भी यह स्थिति बिगड़ेगी। शराब की कुल बिक्री में बार और रेस्तरां 10 प्रतिशत तक का योगदान देते हैं। गिरी ने कहा कि अन्य उद्योगों की तुलना में शराब उद्योग को लॉकडाउन से अधिक प्रभावित होना पड़ा है।