Electric Scooter कंपनियों पर सरकार की सख्ती, आग की घटना के बाद नए मॉडल उतारने पर लगाई रोक

electric scooter fire - India TV Paisa
Photo:FILE

electric scooter fire 

Highlights

  • देश में फिलहाल इलेक्ट्रिक स्कूटर नहीं होंगे लॉन्च
  • आग की घटना को देखते हुए सरकार ने उठाया सख्त कदम
  • जांच पूरा होने तक नए मॉडल लॉन्च करने पर रोक

Electric Scooter में हाल के दिनों में आग लगने की घटना को देखते हुए सरकार ने सख्त कदम उठाया है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, सरकार ने इलेक्ट्रिक स्कूटर बनाने वाली कंपनियों से फिलहाल नए मॉडल बाजार में उतारने को नहीं कहा है। सरकार ने ईवी कंपनियों को निर्देश दिया है कि जब तक इलेक्ट्रिक स्कूटर में आग लगने की घटना की जांच पूरी नहीं हो जाती है और सही कारण का पता नहीं चलता है तब तक नए वाहन लॉन्च नहीं करे। गौरतलब है कि गर्मी बढ़ने के साथ ही देश में कई जगहों पर ई-स्कूटर में आग लगने की घटना सामने आई थी। इसमें कई लोग हताहत भी हुए थे। इसके बाद सरकार की ओर से यह सख्त कदम उठाया गया है। 

कंपनियों को सख्त रुख अपनाने का निर्देश 

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, इलेक्ट्रिक वाहन कंपनियों के साथ एक बैठक में, केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग सचिव गिरिधर अरमाने ने कहा कि अगर कोई कंपनी दोषपूर्ण वाहनों को रिकॉल करने में देरी करती है या सुरक्षा मानकों के साथ चूक करती है तो उससे सख्ती से निपटा जाएगा। इसके साथ ही कंपनियों से कहा गया कि वह नियमों पर खड़े नहीं उतने वाले वाहनों को बाजार में लॉन्च नहीं करें। साथ ही कंपनियां अपने स्तर पर आग लगने की घटना की जांच करें। वहीं, जब तक आग लगने की घटना की जांच पूरी नहीं हो जाती है जब तक नए मॉडल बाजार में लॉन्च नहीं करें। 

गडकरी ने तुरंत कदम उठाने का निर्देश दिया था 

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कंपनियों से गड़बड़ी वाले वाहनों को वापस मंगाने को लेकर तुरंत कदम उठाने का निर्देश दिया था। उन्होंने देश में इलेक्ट्रिक टू व्हीलर बनाने वाली सभी कंपनियों से कहा गया है कि वह आग लगने वाले बैच से संबंधित सभी इलेक्ट्रिक टू व्हीलर को वापस मंगा लें। गडकरी के इस तरह के निर्देश के बाद ओला, ओकिनावा और प्योर ईवी जैसी कंपनियों ने 7000 से अधिक इलेक्ट्रिक टू व्हीलर को वापस मंगाकर उनकी जांच शुरू कर दी है।