Got Summon: मस्क के हाथों में जाते ही भारत में Twitter के लिए आई बुरी खबर, Whatsapp Amazon Apple जैसे कई और भी लपेटे में

Elon Musk- India TV Paisa
Photo:FILE

Elon Musk

Highlights

  • गूगल, अमेजन, फेसबुक, ट्विटर समेत अन्य प्रौद्योगिकी कंपनियों तलब करने का निर्णय
  • संसद की स्थायी समिति की अगली बैठक 12 मई को होने की संभावना है
  • एप्पल, फ्लिपकार्ट, मेक माई ट्रिप-गो इबिबो, स्विगी और जोमैटो को भी समन

Got Summon: एलन मस्क के हाथ में ट्विटर की कमान आते ही भारत से कंपनी के लिए बुरी खबर आई है। दरअसल ट्विटर ही नहीं बल्कि गूगल, फेसबुक- व्हाट्सएप, एप्पल, अमेजन जैसी कई और दिग्गज कंपनियों पर कार्रवाई की तलवार लटक रही है। 

संसद की एक समिति ने बृहस्पतिवार को गूगल, अमेजन, फेसबुक, ट्विटर समेत अन्य प्रौद्योगिकी कंपनियों के प्रतिस्पर्धी गतिविधियों पर चर्चा को लेकर उनके प्रतिनिधियों को तलब करने का निर्णय किया है। 

12 मई को होगी पेशी

यह मामला गैर-प्रतिस्पर्धी आचरण को लेकर है। कई प्रमुख वैश्विक प्रौद्योगिकी कंपनियों के खिलाफ भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) की जांच के बीच समिति ने यह कदम उठाया है। वित्त पर संसद की स्थायी समिति की अगली बैठक 12 मई को होने की संभावना है। समिति के सदस्यों ने सीसीआई द्वारा इस बारे में रखी गयी बातों पर विस्तार से चर्चा की। नियामक ने समिति से कहा कि वह ‘डिजिटल बाजार और आंकड़ा इकाई’ गठित कर रहा है। इसका उद्देश्य बड़ी प्रौद्योगिकी कंपनियों की गैर-प्रतिस्पर्धी गतिविधियों से प्रभावी तरीके से निपटना तथा सीसीआई कानून में संशोधन को लेकर नया विधेयक लाना है। 

इन कंपनियों को मिलेगा समन 

प्रतिस्पर्धा आयोग ने गूगल, फेसबुक- व्हाट्सएप, एप्पल, अमेजन, फ्लिपकार्ट, मेक माई ट्रिप-गो इबिबो, स्विगी और जोमैटो समेत डिजिटल इकाइयों की जांच का जिक्र किया। यह बैठक बड़ी प्रौद्योगिकी कंपनियों और प्रौद्योगिकी मंचों की कथित गतिविधियों को लेकर भारत समेत दुनिया के विभिन्न देशों में बढ़ रही चिंता के बीच हुई है। ऐसा माना जा रहा है कि इन कंपनियों के आचरण से बाजार में प्रतिस्पर्धा पर प्रतिकूल असर पड़ सकता है। 

प्रतिस्पर्धा की चुनौतियों पर सरकार सख्त 

सिन्हा ने कहा, ‘‘हम सभी प्रमुख कंपनियों गूगल, अमेजन, फेसबुक, ट्विटर, अमेजन, माइक्रोसॉफ्ट समेत अन्य कंपनियों को आमंत्रित करने जा रहे हैं। दुनियाभर में डिजिटल बाजार से जुड़ी चुनौतियों का सामना करने के लिये प्रतिस्पर्धा कानून विकसित हो रहे हैं।’’ भारतीय जनता पार्टी के नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सिन्हा ने कहा कि समिति इन कंपनियों की प्रतिस्पर्धी गतिविधियों के बारे में चर्चा करेगी।