नियो ने मिलेनियल्‍स को टार्गेट करने के उद्देश्‍य से वेल्‍थटेक स्‍टार्ट-अप गोलवाइज का अधिग्रहण किया

मिलेनियल्‍स तक अपने उत्‍पादों को पहुंचाने के लिए, भारत के प्रमुख डिजिटल बैंकिंग फिनटेक स्‍टार्ट-अप, नियो ने आधुनिक म्‍युचुअल फंड्स इन्‍वेस्‍टमेंट प्‍लेटफॉर्म, गोलवाइज का अधिग्रहण किया है।

कोविड-19 महामारी के चलते डिजिटल बैंकिंग और संबंधित सेवाओं की मांग काफी बढ़ गयी है। नियो, शानदार मोबाइल एप्‍प अनुभव एवं इनोवेटिव प्रोडक्‍ट सुइट के जरिए अपने उपयोगकर्ता आधार को तेजी से बढ़ाने के लिए इस अवसर का लाभ लेने के लिए पूरी तरह तैयार है। अब इसके प्रोडक्‍ट सुइट में वेल्‍थ मैनेजमेंट प्रोडक्‍ट्स भी शामिल होंगे।

नियो के सह-संस्‍थापक, विनय आगरी (सीईओ) और विरेंद्र बिष्‍ट (सीटीओ) और नियो ने उक्‍त स्‍टार्ट-अप में भारी हिस्‍सेदारी ले ली है, हालांकि, कैश-एंड-स्‍टॉक डील की राशि का खुलासा नहीं किया गया है। गोलवाइज के संस्‍थापक सदस्‍य, नियो की लीडरशिप टीम में शामिल हो जायेंगे और वो नियो के भीतर स्‍वतंत्र वर्टिकल के रूप में नियो वेल्‍थ चलायेंगे।

यह अधिग्रहण, नियो द्वारा अपने उपयोगकर्ताओं के लिए व्‍यापक प्रोडक्‍ट सुइट का निर्माण करने के इसके उद्देश्‍य के अनुरूप है। नियो वेल्‍थ प्‍लेटफॉर्म पर डीआईवाई जीरो प्रतिशत कमीशन म्‍युचुअल फंड प्रोडक्‍ट पहले से ही लाइव हो जाने के अलावा, कंपनी की योजना अगले कुछ महीनों में अंतर्राष्‍ट्रीय एवं घरेलू स्‍टॉक्‍स, रोबो-एडवायजरी व ऑटो-इन्‍वेस्‍ट प्रोडक्‍ट्स लॉन्‍च करने की है।

अभी, गोलवाइज के उपयोगकर्ताओं की संख्‍या 60,000 से अधिक है और इसका एयूए (एसेट्स अंडर एडवाइस) 850 करोड़ रु. है। यह कंपनी प्राथमिक रूप से टायर 1 शहरों के वेतनभोगी मिलेनियल्‍स और 10 लाख रु. की मध्‍यम आय वालों को सेवा प्रदान करती है। गोलवाइज, अनूठा सेट-एंड-फॉरगेट लक्ष्‍य-आधारित निवेश समाधान उपलब्‍ध कराता है, जिसमें निवेश के सभी पहलू जैसे कि म्‍युचुअल फंड का चयन, पोर्टफोलियो रीबैलेंसिंग और टार्गेट-ट्रैकिंग व अन्‍य शामिल हैं।

विनय बागरी ने बताया, ”हमें गोलवाइज और पूरी टीम को नियो परिवार में स्‍वागत करते हुए खुशी हो रही है। यह हमारी लगातार कोशिश रही है कि हम हमारे ग्राहकों को सर्वोत्‍तम वित्‍तीय उत्‍पाद उपलब्‍ध कराएं और बैंकिंग की प्रक्रिया को सभी के लिए सरल, सुरक्षित व सुविधाजनक बनाएं। निवेश करने और हमारे ग्राहकों को वित्‍तीय स्थिरता एवं स्‍वतंत्रता के उनके जीवन लक्ष्‍यों को हासिल करने हेतु सहायता करने में हमारा दृढ़ विश्‍वास है। गोलवाइज का अधिग्रहण उस दिशा में बढ़ाया गया एक महत्‍वपूर्ण कदम है।”   

गोलवाइज के सह-संस्थापक और सीईओ, स्वप्निल भास्कर ने कहा, “हम, गोलवाइज में, हमेशा पारदर्शिता में विश्वास करते हैं और सर्वश्रेष्ठ-इन-क्लास उत्पादों का निर्माण करते हैं जो हमारे ग्राहकों को बेहतर वित्तीय निर्णय लेने के लिए सशक्त बनाएंगे। नियो उन्हीं मूल्यों में विश्वास करता है जिसने इस विलय को एक स्वाभाविक फिट बनाया। हमारे संयुक्त संसाधनों के साथ, हम अब उन्नत सुविधाओं और कई और वित्तीय उत्पादों को शामिल करने के लिए अपने रोडमैप में तेजी लाने में सक्षम होंगे। साथ में, हम अपने वित्तीय लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए एक मिलियन भारतीयों के सपनों को पूरा करने के लिए तैयार हैं। ”

नियो आईडीएफसी फर्स्‍ट बैंक के साथ साझेदारी में सह-ब्रांडेड बचत खाता शुरू करने वाला भारत का पहला फिनटेक बन गया है, जो अपने 007 प्रस्ताव में बैंकिंग, विदेशी मुद्रा और धन प्रबंधन सुविधाओं का सबसे अच्छा संयोजन करता है – म्युचुअल फंड पर 0% कमीशन, 0% विदेशी मुद्रा अंतरराष्ट्रीय खर्च पर मार्क-अप और लगभग 100,000 लोगों द्वारा सदस्यता ली गई वेटलिस्ट के माध्यम से बचत खाते पर 7% तक ब्याज।

उद्योग की रिपोर्ट के अनुसार, भारतीयों ने अपनी संपत्ति का $ 1.8 ट्रिलियन कम-उपज बैंक जमा में पार्क किया है, जो दर्शाता है कि वे पूंजी बाजार में निवेश करने से बचते हैं, गरीब वित्तीय साक्षरता के कारण, शेयर बाजार में कम भरोसा, उपयोगकर्ता अनुभव और सामान्य असंतोष । नियो का लक्ष्य अपने नवीनतम उत्पाद पेशकश के माध्यम से उन्हें सशक्त बनाना है जो ब्याज की उच्च दरों की पेशकश करेगा और म्यूचुअल फंड में निवेश को प्रोत्साहित करेगा।

नियो भारत में 1.5 मिलियन और 6,000+ कॉर्पोरेट्स के सबसे तेजी से बढ़ते फिनटेक स्टार्ट-अप्स में से एक है। कंपनी को सोशल + कैपिटल, जेएस कैपिटल और प्राइम वेंचर पार्टनर्स जैसे मार्की निवेशकों द्वारा समर्थित किया गया है, और अब तक फंडिंग में लगभग 49 मिलियन डॉलर जुटाए हैं। नियो को एशिया के टॉप 50 सूनिकॉर्न्‍स में स्थान दिया गया है।