IntrCity करेगी GoldSeat का अधिग्रहण, इन-बस एप्लिकेशन और टेलीमैटिक्स से मोबिलिटी प्‍लेटफॉर्म को करेगी मजबूत

IntrCity announced the buyout of GoldSeat, an in-bus applications & telematics platform- India TV Paisa
Photo:INTERCITY

IntrCity announced the buyout of GoldSeat, an in-bus applications & telematics platform

नई दिल्ली। इंटरसिटी (IntrCity) ने इन बस एप्लिकेशन और टेलीमैटिक्स प्लेटफॉर्म गोल्ड सीट का अधिग्रहण करने की घोषणा की है। इंटरसिटी भारत का स्मार्ट बसों के बेड़े का सबसे बड़ा नेटवर्क है। गोल्डसीट को कंपनी अपने स्मार्ट बस के बेड़े के साथ एकीकृत करेगी। अधिग्रहित प्रौद्योगिकी के जरिए कंपनी को अपना मोबिलिटी प्लेटफॉर्म मजबूत करने में मदद मिलेगी, जो देश के 14 राज्यों में इंटरसिटी स्मार्ट बसों के बेड़े का संचालन और प्रबंधन करती है।

इंटरसिटी प्लेटफॉर्म जीपीएस आधारित लोकेशन निगरानी और ट्रैकिंग, सीसीटीवी फीड मैनेजमेंट, मल्टी नेटवर्क वाई-फाई, यात्री सूचना और घोषणा सिस्टम से युक्त है। गोल्डसीट के एकीकरण से न केवल मौजूदा फीचर्स में मजबूती आएगी बल्कि यह एआई आधारित ड्राइवर अलर्ट और ओईएम के साथ एकीकरण के मामले में मदद देगा जिससे ऑपरेटर्स को बेहतर सेवाएं मिलेंगी।

इंटरसिटी के सह-संस्थापक, कपिल रायजादा ने कहा कि स्मार्ट बसों के बेड़े के ऑटोमेशन और समग्र निगरानी के मामले में इंटरनेट ऑफ थिंग्स महत्वपूर्ण प्रौद्योगिकी है क्योंकि परिचालन रिमोट संचालित, भौगोलिक रूप से विस्तृत और रात भर है। बेड़े के लगातार बढ़ रहे आकार की वजह से हमें एक मानक आईओटी मंच की जरूरत थी जिसे किसी भी बस से युक्त किया जा सके और जो बिना किसी बाधा के हमारे बैक-एंड प्लेटफॉर्म से लगातार जुड़कर काम कर सके। यह प्रौद्योगिकी हमें इस मकसद को पूरा करने में सहायता करेगी।

मोबिलिटी टेक्नोलॉजी (MoTech) प्लेटफॉर्म ड्राइवर और वाहन के प्रदर्शन से संबंधित डेटा और जानकारी के इस्तेमाल में सक्षमता प्रदान करेगा। कंपनी मशीन लर्निंग टूल्स की मदद से निकाले गए डेटा इनसाइट्स/ट्रेंड का इस्तेमाल करने और उसे अपने सहयोगियों के लिए उपयोगी बनाने की दिशा में विस्तृत अनुभव रखती है।

इंटरसिटी के सीईओ और सह-संस्थापक मनीष राठी ने कहा कि हम हमेशा से अपने इन्टरसिटी यात्रियों को सर्वोत्तम सेवा प्रदान करने के लिए अन्वेषण और नई-नई तकनीकों को विकसित करने में सबसे आगे रहे हैं। हमने ट्रेनों पर लाइव ट्रेन स्टेट्स सेवा मुहैया कराई और अब इस नवीनतम लॉन्च ‘वेयर इज माय बस 2.0’ इंटरसिटी बस यात्रियों को बेहतरीन अनुभव प्रदान करेगा। उपभोक्ता ऐप पर सुविधाओं का हमारा अगला सेट बस के साथ प्री-बोर्डिंग कम्युनिकेशंस, ऑन-डिवाइस गंतव्य आगमन अलर्ट और रेस्त्राओं के बारे में सटीक पूर्व सूचना जैसे अत्याधुनिक समाधानों की पेशकश करेगा। हम इस प्रौद्योगिकी को एकीकृत करने और यात्रियों के अनुभव को बेहतर बनाने के बारे में उत्साहित है।

कंपनी की मौजूदा प्रौद्योगिकी में फिलहाल ट्रैक माय बोर्डिंग प्वाइंट्स और बोर्डिंग स्टेशन पर बसों के आगमन की सूचना जैसी सुविधाएं मौजूद हैं। ट्रैक माय बोर्डिंग प्वाइंट्स के जरिए किसी ग्राहक को कहां इंतजार करना है और नजदीकी पिक-अप प्वाइंट के बारे में जानकारी मिलती है। वहीं 24/7 कमांड सेंटर के जरिए रियल टाइम बसों के आवागमन, बसों की गति और सीसीटीवी फुटेज की सुविधा मिलती है। स्मार्ट बसों का बेड़ा ऑनबोर्ड वाशरुम, वाई-फाई कनेक्टिविटी, ऑटोमेटिक यात्री सूचना और ऑनबोर्ड इंफोटेनमेंट सिस्टम से लैस है। स्मार्ट बस का बेड़ा यूजर के लिहाज से एआई आधारित ड्राइवर अलर्ट और जीपीएस जैसी शानदार तकनीकी विशेषताओं से युक्त है।

Bajaj Auto ने लॉन्‍च की Pulsar NS 125 मोटरसाइकिल, जानिए कितनी है कीमत

कोरोना की दूसरी लहर के बीच वित्‍त मंत्रालय ने किया बड़ी मदद का ऐलान…

देश से Covid-19 को खत्‍म करने के लिए मोदी सरकार का बड़ा कदम…

गोल्‍ड ज्‍वेलरी के लिए अनिवार्य हॉलमार्किंग 1 जून से होगा लागू या नहीं?

1998-99 के बाद पहली बार पेट्रोल-डीजल व अन्‍य ईंधन का हुआ ये हाल…