Jeff Bezos आज छोड़ेंगे 1.7 लाख करोड़ डॉलर वाली कंपनी Amazon के CEO का पद, Andy Jassy संभालेंगे जिम्‍मेदारी

Amazon ceo jeff bezos with his father. - India TV Paisa
Photo:JEFBEZOS@TWITTER

Amazon ceo jeff bezos with his father. अमेजन के सीईओ जेफ बेजोस अपने पिता के साथ। चित्र प्रतीकात्‍मक है।

नई दिल्‍ली। ब्रहांड की सबसे बड़ी और सबसे ज्‍यादा डाइवर्सीफाइड कंपनियों में से एक अमेजन (Amazon) के संस्‍थापक जेफ बेजोस (Jeff Bezos) आज कंपनी का सीईओ पद छोड़ देंगे। बेजोस ने अमेजन की शुरुआत सीटेल स्थित अपने किराये के घर के गैराज में 1994 में की थी। उन्‍होंने इसकी शुरुआत ऑनलाइन बुकस्‍टोर के रूप में की थी। समय के साथ कंपनी का कारोबार बढ़ता गया और आज यह 1.7 लाख करोड़ डॉलर मार्केट कैप वाली कंपनी है। पिछले कुछ सालों में कंपनी ने ऑनलाइन रिटेल से अपना ध्‍यान ई-कॉमर्स, क्‍लाउड कम्‍प्‍यूटिंग, हेल्‍थकेयर, बैंकिंग आदि क्षेत्रों पर केंद्रित किया है। यह आज ऐसी जगह है जहां ऐसी इंडस्‍ट्री की लिस्‍ट बनाना आसान होगा, जहां अमेजन की उपस्थिति नहीं है।   

5 जुलाई को बेजोस सीईओ के पद आधिकारिक रूप से छोड़ देंगे और उनकी जगह अब कंपनी की जिम्‍मेदारी अमेजन वेब सर्विसेस के सीईओ एंडी जैसी (Andy Jassy) के कंधों पर होगी। अमेजन वेब सर्विसेस शुरुआती वर्षों में कंपनी की रीढ़ थी। कंपनी के क्‍लाउड-कम्‍प्‍यूटिंग टूल का उपयोग प्‍लेटफॉर्म पर थर्ड पार्टी वेंडर्स की वेबसाइट और बिजनेस को संचालित करने में किया जाता था। जब उन्‍हें यह समझ आया कि वह क्‍लाउड सर्विसेस को अन्‍य कंपनियों और उद्यमों को भी बेच सकते हैं, अमेजन वेब सर्विसेस (AWS) डिवीजन 2006 से बड़ी बनना शुरू हुई।

अमेजन वेब सर्विसेस अपने दम पर एक बड़ी इकाई बन चुकी है और पिछली तिमाही में अमेजन की कुल ऑपरेटिंग इनकम में 52 प्रतिशत हिस्‍सा एडब्‍ल्‍यूएस का है। इसने बिजनेस को स्थिर रखने और ओवरऑल कंपनी के घाटे को कम करने के लिए पर्याप्‍त इनकम जनरेट करने में मदद की है। इसी वजह से अमेजन ने अन्‍य वेंचर्स में निवेश करना जारी रखा।   

सीईओ के रूप में बेजोस की सफलता उनके बिजनेस सिद्धांतों का परिणाम है। मुख्‍य सिद्धांत में से एक है कि वह हर दिन ऐसा व्‍यवहार करते हैं, जैसा कि पहले दिन था। अन्‍य सिद्धांतों में ग्राहकों के प्रति जुनूनी होना, जिम्‍मेदारी लेना, निवेश करना और सरल बनाना, सीखना और जिज्ञासु होना, नियुक्‍त करना और विकसित करना, बड़ा सोचना, मितव्‍ययिता, भरोसा जीतना, गहराई में जाना आदि शामिल हैं।

यह सिद्धांत अब कंपनी के स्‍तंभ बन चुके हैं। 2017 में वह दुनिया के सबसे अमीर व्‍यक्ति बने और 2018 में वह 150 अबर डॉलर की संपत्ति के साथ आधुनिक इतिहास के सबसे अमीर व्‍यक्ति बने। अगस्‍त, 2020 में उनकी संपत्ति बढ़कर 202 अरब डॉलर हो गई थी। बेजोस कई परोपकारी कार्यों से भी जुड़े हुए हैं। जिसमें प्रमुख है डे 1 फंड, जो बेघर लोगों को मदद देने और निम्‍न-आय वाले देशों में स्‍कूलों का निर्माण करती है।

यह भी पढ़ें: मुकेश अंबानी ने छोटे बेटे अनंत को सौंपी ये बड़ी जिम्‍मेदारी…

यह भी पढ़ें: Home Loan लेने से पहले खुद से पूछें ये 4 सवाल, हर समस्‍या का हो जाएगा समाधान

यह भी पढ़ें: LIC के IPO को लेकर आई बड़ी खबर…

यह भी पढ़ें: Honda वाहन प्रेमियों के लिए बुरी खबर, कंपनी ने आज की ये घोषणा