Mobile Wallet Safety: स्मार्टफोन हो गया है चोरी? जानिए कैसे करें Paytm Google Pay जैसी बैंकिंग एप की सुरक्षा

Mobile Wallet Safety- India TV Paisa

Mobile Wallet Safety

Highlights

  • फोन चोरी करके बाद चोर सबसे पहले आपकी बैंकिंग डीटेल्स ही टटोलते हैं
  • हैकिंग इतनी एडवांस है, ​कि आपके पासवर्ड या पैटर्न को तोड़ना मुश्किल काम नहीं
  • गूगल पे, फोनपे, पेटीएम की बैंकिंग डीटेल भी चोरों के हाथ लग सकती हैं

Mobile Wallet Safety: आज के समय में आपका मोबाइल फोन शरीर के किसी आवश्यक अंग जैसा हो गया है। हम जरूरी बातचीत के लिए ही नहीं अपने बैंकिंग लेनदेन के लिए भी मोबाइल फोन का ही इस्तेमाल करते हैं। जहां हम हर वक्त अपना मोबाइल अपने साथ रखते हैं, वहीं इसके चोरी होने की संभावना भी काफी बढ़ गई है। 

चोरी करने वाले लोग भी आजकल फोन चोरी होने के बाद सबसे पहले आपकी बैंकिंग डीटेल्स ही टटोलते हैं। कई बार आप पेटीएम वॉलेट में पैसा भी रखते हैं, इसके अलावा गूगल पे, फोनपे, पेटीएम या भीम एप के साथ आपकी बैंकिंग डीटेल भी चोरों के हाथ लग सकती हैं। आज मोबाइल हैकिंग इतनी एडवांस हो गई है, ​कि आपके पासवर्ड या पैटर्न को तोड़ना चारों के लिए कोई मुश्किल काम नहीं है। 

इस तरह की घटनाओं के सामने आने के साथ ही सावधान रहना बहुत जरूरी हो जाता है। यदि आपका फोन खो जाता है तो इस स्थिति में आप नीचे दिए गए तरीकों से अपने फोन या उसके डेटा का गलत इस्तेमाल होने से रोक सकते हैं। 

Mobile Wallet Safety

Image Source : INDIATV

Mobile Wallet Safety

सबसे पहले अपना सिम कार्ड ब्लॉक कराएं

आज के समय में सभी बैंकिंग ट्रांजेक्शन मोबाइल ओटीपी की मदद से सिक्योर किए जाते हैं। ऐसे में जब आपका फोन ही चोर के हाथों में है तो आपके ओटीपी भी उसी के कब्जे में होंगे। ऐसे में सबसे जरूरी है कि आप अपना सिम कार्ड तुरंत ब्लॉक करा दें। सिम कार्ड को ब्लॉक करने का मतलब फोन पर हर उस ऐप को ब्लॉक करना है जिसे OTP के जरिए एक्सेस किया जा सकता है। हालांकि आप नए सिम कार्ड पर वही पुराना नंबर दोबारा जारी करवा सकते हैं। 

मोबाइल बैंकिंग सर्विसेज बंद करवाएं

चोर आपके बैंक खाते में सेंध लगाएं, इसके लिए जरूरी है कि आप अपने मोबाइल में मौजूद बैंक डिटेल्स का एक्सेस रोक दें। आप अपने बैंक में फोन कर बैंक की मोबाइल और इंटरनेट बैंकिंग सर्विसेज को तुरंत बंद करवा सकते हैं।  

UPI पेमेंट को डीएक्टिवेट करें

आजकल आप अपने अधिकतर पेमेंट यूपीआई के माध्यम से करते हैं। यूपीआई की मदद से चोर आपके बैंक का पूरा पैसा मिनटों में खाली कर सकता है। याद रखें जब आप ऑनलाइन बैंकिंग सेवाओं को बंद करवाते हैं तब भी यूपीआई सेवाएं चालू रहती हैं। ऐसे में जरूरी है कि आप UPI भुगतान को जल्द से जल्द निष्क्रिय कर दें।

मोबाइल वॉलेट्स को कर दें ब्लॉक 

कई बार आप अपने मोबाइल वॉलेट्स में पैसा डालकर रखते हैं। चोर इस पैसे का आसानी से ट्रांसफर कर सकता है। ऐसे में जरूरी है कि आप Google Pay और Paytm जैसे मोबाइल वॉलेट को तुरंत ब्लॉक करवा दें। इसके लिए आप संबंधित ऐप के हेल्प डेस्क से संपर्क कर सकते हैं।

पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करवाएं

अभी तक उठाए गए कदम आपको मोबाइल चोरी होते ही उठाने चाहिए। इनमें से सबसे जरूरी कदम इसकी सूचना पुलिस को देने की भी है। आप नजदीकी पुलिस स्टेशन में फोन चोरी की रिपोर्ट दर्ज करवा सकते हैं और एफआईआर की एक कॉपी भी उनसे ले लें। यदि आपके फोन का दुरूपयोग होता है या आपके फोन के द्वारा आपका पैसा चोरी हो जाता है तो यह कॉपी आपके लिए सबूत के तौर पर उपयोगी साबित होगी।