SBI ने दिए फ्रॉड से बचने के टिप्स, मानी सलाह तो कभी नहीं होंगे ऑनलाइन ठगी के शिकार

SBI ने दिए फ्रॉड से बचने...- India TV Paisa

SBI ने दिए फ्रॉड से बचने के टिप्स, मानी सलाह तो कभी नहीं होंगे ऑनलाइन ठगी के शिकार 

भारत में बैंकिंग सेवाएं तेजी से आधुनिक हो रही हैं। आज आप बैंक से जुड़ा हर काम घर बैठे अपने मोबाइल से निपटा सकते हैं। लेकिन यह सुविधा बहुत बड़ा खतरा भी लेकर आई है। आज ग्राहकों की एक गलती का फायदा उठाने के लिए फ्रॉड और जालसाज हमेशा तैनात हैं। बैंक और आरबीआई वित्तीय सेवाओं को जितना सुरक्षित बना रहे हैं, जालसाज उससे एक कदम आगे बढ़कर ग्राहकों को चूना लगा रहे हैं। 

इस मुश्किल का एक सबसे आसान और कारगर उपाय यह है कि ग्राहकों को चौकन्ना रहना होगा। इस बीच देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक ने अपने ग्राहकों को सुरक्षित रहने के कुछ टिप्स दिए हैं। यदि आप इन टिप्स का पालन करते हैं तो आप काफी हद तक धोखेबाजी से सुरक्षित रह सकते हैं। बैंक ने कहा है कि हम अपने ग्राहकों को सलाह देते हैं कि धोखेबाजों से सतर्क रहें और किसी भी संवेदनशील जानकारी को ऑनलाइन शेयर न करें। साथ ही एसबीआई ने किसी अज्ञात स्रोत से कोई ऐप डाउनलोड करने के लिए भी मना किया है। 

ग्राहकों की सुरक्षा के लिए बैंक ने किया ट्वीट 

बैंक ने ट्वीट कर ग्राहकों से कहा है कि यह हमारा कर्तव्य है कि हम आपको ऑनलाइन धोखाधड़ी का शिकार होने से बचाएं। हम अपने ग्राहकों को सलाह देते हैं कि धोखेबाजों से सतर्क रहें और किसी भी संवेदनशील जानकारी को ऑनलाइन शेयर न करें।’

एसबीआई ने ग्राहकों को बचने के लिए दिए ये टिप्स 

  1. आप मानक नियमों का पालन करें और किसी अनजान व्यक्ति से अपना पर्सनल एवं बैंकिंग विवरण साझा न करें।
  2. किसी भी अनौपचारिक लिंक पर क्लिक न करें, जो ईएमआई, डीबीटी, प्रधानमंत्री केयर फंड या किसी अन्य केयर फंड के लिए वन टाइम पासवर्ड  या बैंक विवरण मांगता है.
  3. फर्जी योजनाओं से सावधान रहें, जो एसएमएस, ई मेल, पत्र, फोन कॉल या विज्ञापन के जरिए लॉटरी, नकद पुरस्कार या नौकरी के अवसर प्रदान करने का दावा करते हैं।
  4. समय-समय पर बैंक से संबंधित अपना पासवर्ड बदलते रहें।
  5. कृपया ध्यान रखें कि एसबीआई के प्रतिनिधि कभी भी अपने ग्राहकों को उनकी व्यक्तिगत जानकारी, पासवर्ड, उच्च सुरक्षा पासवर्ड या ओटीपी के लिए न तो ईमेल/एसएमएस भेजते हैं और ना ही कॉल करते हैं।
  6. एसबीआई से संबंधित संपर्क नबंर और अन्य विवरण के लिए केवल एसबीआई की वेबसाइट का ही उपयोग करें। इस संबंध में इंटरनेट खोज परिणामों पर उपलब्ध जानकारी पर भरोसा न करें।
  7. धोखेबाजाों के बारे में स्थानीय पुलिस के अधिकारी को तुरंत रिपोर्ट करें और अपनी निकटतम एसबीआई ब्रांच को इसकी सूचना दें।