Share Market: बाजार की मजबूत शुरुआत, सेंसेक्स 264 अंक चढ़कर 57 हजार के पार, HUL में 3% की तेजी

BSE- India TV Paisa
Photo:FILE

BSE

Highlights

  • 264 अंक मजबूत होकर 57,084.16 अंक पर ट्रेड कर रहा है सेंसेक्स
  • 83 अंक की तेजी के साथ 17,121.45 अंक पर कारोबार कर रहा है निफ्टी
  • मुनाफावसूली से बुधवार को बीएसई सेंसेक्स 537 अंक टूटकर बंद हुआ था

Share Market मंथली एक्सपायरी के दिन गुरुवार को मजबूती के साथ खुले हैं। शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 264 अंक मजबूत होकर 57,084.16 अंक पर ट्रेड कर रहा है। वहीं, निफ्टी 83 अंक की तेजी के साथ 17,121.45 अंक पर कारोबार कर रहा है। सेंसेक्स में शामिल 30 शेयरों में से 26 में तेजी देखने को मिल रही है। वहीं, नतीजे के दम पर HUL के शेयर में करीब 3 फीसदी की तेजी देखने को मिल रही है। सेंसेक्स में यूनिलीवर लिमिटेड, सन फार्मा, एशियन पेंट्स, इंफोसिस, पावर ग्रिड, डॉ रेड्डीज और एमएंडएम बढ़ने वाले प्रमुख शेयरों में शामिल थे। दूसरी ओर एचसीएल टेक्नालॉजीज, भारती एयरटेल, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, टीसीएस और बजाज फाइनेंस लाल निशान में थे। अन्य एशियाई बाजारों में तोक्यो, हांगकांग, शंघाई और सोल मध्य सत्र के सौदों में हरे रंग में कारोबार कर रहे थे।

बाजार में उतार-चढ़ाव रखने की आशंका 

मार्केट एक्सपर्ट का कहना है कि आज बाजार में उतार-चढ़ाव देखने को मिल सकता है। मंथली एक्सपायरी होने के कारण ट्रेडर तेजी-मंदी करेंगे। ऐसे में छोटे निवेशक अच्छी कंपनियों के शेयर के साथ बने रहें। वहीं, ट्रेडर अग्रसिव ट्रेडिंग करने से बचें। अगर निफ्टी 17,200 के पार निकलता है तो तेजी करें। उससे पहले तेजी करना घाटे का सौदा हो सकता है। शुरुआती कारोबार में ऑटो, गैस, तेल और एनर्जी सेक्टर में अच्छी तेजी देखी जा रही है और इनके दम पर शेयर बाजारों में अच्छी तेजी देखी जा रही है।

डॉलर के मुकाबले रुपया 10 पैसे टूटा 

अमेरिकी डॉलर की मजबूती और विदेशी कोषों की बिकवाली जारी रहने के चलते रुपया बृहस्पतिवार को शुरुआती कारोबार में अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले 10 पैसे की गिरावट के साथ 76.67 पर आ गया। अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 76.60 पर खुला, और फिर गिरावट दर्ज करते हुए 76.67 पर आ गया, जो पिछले बंद भाव से 10 पैसे की कमजोरी दर्शाता है। रुपया बुधवार को अमेरिकी डॉलर के मुकाबले किसी फेरबदल के बिना 76.57 पर बंद हुआ था। छह प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले अमेरिकी डॉलर की स्थिति को दर्शाने वाला डॉलर सूचकांक 0.37 प्रतिशत बढ़कर 103.34 पर पहुंच गया। वैश्विक तेल मानक ब्रेंट क्रूड वायदा 1.57 प्रतिशत गिरकर 103.67 डॉलर प्रति बैरल के स्तर पर आ गया। शेयर बाजार के अस्थाई आंकड़ों के मुताबिक विदेशी संस्थागत निवेशकों ने बुधवार को शुद्ध रूप से 4,064.54 करोड़ रुपये के शेयर बेचे। 

बुधवार को बड़ी गिरावट आई थी 

मुनाफावसूली से बुधवार को सेंसेक्स 537 अंक टूटकर बंद हुआ था। जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, वैश्विक बाजारों में भारी बिकवाली से घरेलू बाजार में उतार-चढ़ाव जारी है। इसका कारण ऊर्जा संकट का बढ़ना तथा चीन में आर्थिक परिदृश्य का कमजोर होना है। इनपर अमेरिका में ब्याज दर बढ़ने की संभावना का असर है। उन्होंने कहा कि निवेशक दुनिया के कई देशों में केंद्रीय बैंकों के ब्याज दर बढ़ाने, चीन में ‘लॉकडाउन’ और रूस-यूक्रेन युद्ध से वैश्विक नरमी को लेकर आशंकित हैं।