Sumitomo Group करेगा Fullerton India Credit का अधिग्रहण, 2.5 अरब डॉलर में होगा सौदा

Sumitomo Group to acquire Fullerton India Credit, Info Edge to acquire Axilly Labs- India TV Paisa
Photo:FORTUNE

Sumitomo Group to acquire Fullerton India Credit, Info Edge to acquire Axilly Labs

नई दिल्‍ली। विविध क्षेत्रों से जुड़े जापानी समूह सुमितोमो मित्सुई फाइनेंशियल ग्रुप ने मंगलवार को 2.5 अरब डॉलर में फुलर्टन फाइनेंशियल सर्विसेज होल्डिंग्स की गैर बैंकिंग शाखा फुलर्टन इंडिया क्रेडिट कंपनी के अधिग्रहण के लिए एक समझौता किया है। फुलर्टन फाइनेंशियल सर्विसेज सिंगापुर की टेमासेक होल्डिंग्स की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी है।

जापानी कपंनी ने अपने बयान में सौदे की कीमत का खुलासा नहीं किया, लेकिन बाजार सूत्रों ने बताया कि सुमितोमो समूह पहले चरण में 74.9 प्रतिशत हिस्सेदारी के लिए लगभग दो अरब अमेरिकी डॉलर का भुगतान करेगा और शेष हिस्सेदारी हासिल करने के लिए 50 करोड़ रुपये का भुगतान दूसरे चरण में किया जाएगा। मौजूदा विनिमय दर पर सौदे की कीमत करीब 18,550 करोड़ रुपये होगी।

इंफो एज 21 करोड़ रुपये में एक्सिली लैब्स का अधिग्रहण करेगी

इंफो एज (इंडिया) ने 21 करोड़ रुपये के सौदे में एक्सिली लैब्स के अधिग्रहण की घोषणा की है। इससे नौकरी.कॉम की मूल कंपनी को ऑनलाइन नियुक्ति समाधान खंड में अपनी स्थिति और मजबूत करने में मदद मिलेगी। कंपनी के निदेशक मंडल की पांच जुलाई को हुई बैठक में एक्सिली लैब्स में 100 प्रतिशत शेयर पूंजी 21 करोड़ रुपये नकद में खरीदने की मंजूरी दी गई है।

इंफो एज (इंडिया) ने शेयर बाजारों को भेजी सूचना में यह जानकारी दी। इस सौदे को पूरा करने के लिए कुछ शर्तें पूरी की जानी है। बेंगलुरु की कंपनी एक्सिली लैब्स अपने ग्राहकों को नियुक्ति और लर्निंग के लिए तकनीकी आकलन सेवाएं उपलब्ध कराती है। यह सौदा 31 जुलाई, 2021 तक पूरा होने की उम्मीद है।

भारतीय टायर उद्योग के लिए मांग परिदृश्य अनुकूल

दो साल तक लगातार गिरावट के बाद मूल उपकरण विनिर्माताओं (ओईएम) के पास भारतीय टायर उद्योग की मांग में चालू वित्त वर्ष में 13 से 15 प्रतिशत की बढ़ोतरी होगी। रेटिंग एजेंसी इक्रा ने यह आकलन किया है। इक्रा ने कहा कि इसके अलावा ‘रिप्लेसमेंट’ बाजार में भी मांग में 13 से 15 प्रतिशत का इजाफा होगा। रेटिंग एजेंसी ने कहा कि घरेलू और निर्यात मांग सुधार से कुछ ठहराव के बाद टायर उद्योग में निवेश का क्रियान्वयन शुरू हो गया है।

इक्रा ने कहा कि अनुमानित मांग वृद्धि के आधार पर वित्त वर्ष 2021-22 से वित्त वर्ष 2024-25 के दौरान उद्योग में 20,000 करोड़ रुपये का पूंजीगत निवेश होगा। यह निवेश ज्यादातर कर्ज जुटाकर किया जाएगा। इक्रा ने बयान में कहा कि टायर उद्योग के लिए मांग परिदृश्य अनुकूल नजर आ रहा है। चालू वित्त वर्ष में टायर उद्योग की वृद्धि में ओईएम टायर मांग में सुधार के अलावा पिछले साल के कमजोर आधार प्रभाव की प्रमुख भूमिका होगी।

यह भी पढ़ें: जुलाई में खरीदारी करने वालों के लिए ये हैं 15000 रुपये से कम कीमत वाले बेस्‍ट स्‍मार्टफोन

यह भी पढ़ें: सावधान, भारत में कोविड-19 की तीसरी लहर कब देगी दस्‍तक, तारीख आई सामने

यह भी पढ़ें: आयकर विभाग ने करदाताओं को दी बड़ी राहत…

यह भी पढ़ें:शराब के शौकीन दिल्‍लीवासियों के लिए खुशखबरी, सरकार ने की ये घोषणा

यह भी पढ़ें: Tata Motors ने किया ग्राहकों के लिए बड़ा ऐलान…