Tata Sons ने जीती Air India की बोली, 67 साल बाद हुई घर वापसी

Tata sons wins air india bids- India TV Paisa
Photo:PIXABAY

Tata sons wins air india bids

नई दिल्‍ली। नमक से लेकर सॉफ्टवेयर बनाने वाले 110 अरब डॉलर वाले टाटा समूह ने आखिरकार सार्वजनिक एयरलाइन एयर इंडिया को खरीदने में सफलता हासिल कर ली है। रिपोर्ट्स के मुताबिक टाटा संस ने एयर इंडिया की बोली जीत ली है। सरकार ने गुरुवार को ही वित्‍तीय बोलियों का मूल्‍याकंन किया था। सरकार सौदे को जल्दी पूरा करने की इच्छुक है। अघोषित आरक्षित मूल्य के आधार पर वित्तीय बोलियों का मूल्यांकन किया गया और मानक मूल्य से अधिक कीमत पेश करने वाली बोली को विजेता घोषित किया गया। टाटा के बोली जीतने के साथ ही एयर इंडिया 67 साल बाद नमक से लेकर सॉफ्टवेयर बनाने वाले समूह के पास वापस चली गई है।

उल्लेखनीय है कि टाटा समूह ने अक्टूबर, 1932 में टाटा एयरलाइंस के नाम से एयर इंडिया का गठन किया था। सरकार ने 1953 में एयरलाइन का राष्ट्रीयकरण कर दिया। टाटा पहले से सिंगापुर एयरलाइंस के साथ मिलकर विमानन सेवा विस्तार का परिचालन कर रही है। अभी यह साफ नहीं है कि समूह ने स्वयं या एयर एशिया इंडिया के जरिये बोली लगाई है। ऐसा कहा जाता है कि सिंगापुर एयरलाइंस निजीकरण की प्रक्रिया में शामिल होने को लेकर उत्सुक नहीं है। सरकार एयरलाइन में अपनी 100 प्रतिशत हिस्सेदारी बेच रही है। इसमें एयर इंडिया की 100 प्रतिशत हिस्सेदारी वाली एआई एक्सप्रेस लि.और 50 प्रतिशत हिस्सेदारी वाली एयर इंडिया एसएटीएस एयरपोर्ट सर्विसेज प्राइवेट लि. शामिल हैं।

डिपार्टमेंट ऑफ इनवेस्‍टमेंट एंड पब्लिक असेट मैनेजमेंट (दीपम) द्वारा जनवरी 2020 में जारी अभिरुचि पत्र में कहा गया है कि एयरलाइन पर 31 मार्च, 2019 तक कुल 60,074 करोड़ रुपये का कर्ज बकाया था। नए खरीदार को 23,286.5 करोड़ रुपये का कर्ज वहन करना होगा। शेष कर्ज को एक स्‍पेशल पर्पज व्‍हीकल एयर इंडिया असेट होल्डिंग लिमिटेड को ट्रांसफर किया जाएगा। एयरइंडिया 2007 से ही घाटे में चल रही है, जब इसका विलय घरेलू परिचालक इंडियन एयरलाइंस के साथ किया गया था।   

बोली जीतने वाले सफल ग्राहक को घरेलू एयरपोर्ट पर 4400 घरेलू और 1800 अंतरराष्‍ट्रीय लैंडिंग और पार्किंग स्‍लॉट के साथ ही साथ अंतरराष्‍ट्रीय एयरपोर्ट पर 900 स्‍टॉल का नियंत्रण भी हासिल होगा। इसके अलावा सफल खरीदार को एयर इंडिया एक्‍सप्रेस की 100 प्रतिशत हिस्‍सेदारी और एआईएसएटीएस की 50 प्रतिशत हिस्‍सेदारी भी हासिल होगी, जो प्रमुख भारतीय एयरपोर्ट पर कार्गो एवं ग्राउंड हैंडलिंग सर्विस प्रदान करती है।

यह भी पढ़ें: Mahindra XUV700 की बुकिंग 7 अक्‍टूबर होगी शुरू, पहले 25000 खरीदारों को मिलेगी इस खास कीमत पर

यह भी पढ़ें:  India’s top 10 richest: भारत के अरबपतियों की कितनी है एक दिन की कमाई, देखिए पूरी लिस्‍ट

यह भी पढ़ें: नितिन गडकरी ने सेना को दिया डीजल वाहनों का इस्‍तेमाल बंद करने का सुझाव

यह भी पढ़ें: अब शेयर बाजार में भी अपना दम दिखाएंगे डा. नरेश त्रेहान